spot_img

शिलांगः केंद्रीय बलों ने की उपद्रवियों से निपटने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों से फ्री हैंड देने की अपील

हिंसा प्रभावित शिलांग के विभिन्न इलाकों में तैनात केंद्रीय अर्ध सैनिक बल वरिष्ठ अधिकारियों से आह्वान किया है कि वे उपद्रवियों से निपटने के लिए उन्हें फ्री हैंड दें।

शिलांग: हिंसा प्रभावित शिलांग के विभिन्न इलाकों में तैनात केंद्रीय अर्ध सैनिक बल वरिष्ठ अधिकारियों से आह्वान किया है कि वे उपद्रवियों से निपटने के लिए उन्हें फ्री हैंड दें। हालांकि, प्रशासन की ओर से कोई निर्देश जारी नहीं किया गया है, जिसके चलते सुरक्षा बल उपद्रवियों के सामने लाचार नजर आ रहे हैं।

राज्य के मुख्यमंत्री कॉनराड के संगमा ने सोमवार को मेघालय की बिगड़ते हालात से निपटने के लिए केंद्रीय गृह विभाग से पांच कंपनी केंद्रीय बल की मांग की थी। कानून व्यवस्था तेजी से बिगड़ते जा रहे हैं। मुख्यमंत्री की अपील के बाद बीती रात एक कंपनी सीआरपीएफ और एक कंपनी बीएसएफ की कुल दो केंद्रीय बल की कंपनियों को कर्फ्यू प्रभावित शिलांग भेजा गया है।

हालांकि शिलांग के प्रवेश द्वार के रूप में जाना जाने वाला मौलाई इलाके में केंद्रीय बलों की गाड़ी पर पत्थर फेंका गया। सशस्त्र बल ऐसी स्थिति से कड़ाई के साथ निपटने में जुट गए हैं।

घटना की पुष्टि करते हुए मंगलवार को पूर्वी खासी पहाड़ी जिलाधिकारी ने बताया कि बीती रात अपेक्षाकृत सुनसान जगह और मुख्य घटनास्थल मौलाई इलाके में कुछ छिटपुट घटनाएं हुईं। लेकिन, शिलांग शहर में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई।

इस बीच, एक अन्य सूत्र ने बताया है कि बीती रात और मंगलवार को भी मौलाई के विभिन्न इलाकों में पुलिस और सुरक्षा बलों के वाहनों को उपद्रवियों द्वारा निशाना बनाने की कोशिश की गयी है।

इसको देखते हुए प्लाटून कमांडर ने संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों से अपील की है कि वे उपद्रवियों से निपटने के लिए उन्हें फ्री हैंड दें। हालांकि, प्रशासन की ओर से कोई कड़ा निर्देश जारी नहीं किया गया है, जिसके चलते सुरक्षा बल उपद्रवियों के सामने लाचार नजर आ रहे हैं।

इन्हे भी पढ़ें:

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!