spot_img

22 सालों में झारखंड नक्सल अभियान के तहत 3412 नक्सली गिरफ्तार

Ranchi: झारखंड पुलिस नक्सलियों और उग्रवादियों के खिलाफ लगातार राज्य के नक्सल प्रभावित इलाकों में अभियान चला रही है। राज्य के 16 जिले रांची, खू्ंटी, बोकारो, चतरा, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, गढ़वा, गिरिडीह, गुमला, हजारीबाग, लातेहार, लोहरदगा, पलामू, सिमडेगा और सरायकेला नक्सल प्रभावित इलाके हैं जबकि आठ जिले अभी भी घोर नक्सल प्रभावित हैं।

इनमें चतरा, लातेहार, गिरिडीह, गुमला, लोहरदगा, लातेहार, सरायकेला और पश्चिम सिंहभूम शामिल हैं। राज्य में भाकपा माओवादी, पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई), तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (टीएसपीसी), झारखंड जन मुक्ति परिषद (जेजेएमपी) और झारखंड प्रस्तुति कमेटी (जेपीसी) के उग्रवादी एवं नक्सली सक्रिय है।

पुलिस और सुरक्षाबलों के लगातार चलाये गये अभियान से वर्ष 2000 से लेकर वर्ष 2022 नवम्बर तक 3412 नक्सली गिरफ्तार हुए है जबकि 313 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2000 में छह, 2001 में 163, 2002 में 128, 2003 में 98, 2004 में 67, 2005 में 102, 2006 में 66, 2007 में 87, 2008 में 129, 2009 में 266, 2010 में 173, 2011 में 261, 2012 में 204, 2013 में 169, 2014 में 223, 2015 में 174, 2016 में 22, 2017 में 236, 2018 में 157, 2019 में 69, 2020 में 92, 2021 में 141 और 2022 में 180 गिरफ्तार हुई है।

सरेंडर करने वालों में वर्ष 2001 में 40, 2002 में 37, 2003 में तीन, 2006 में पांच, 2009 में एक, 2010 में 20, 2011 में 12, 2012 में आठ, 2013 में 23, 2014 में 10, 2015 में 11, 2016 में 28, 2017 में 38, 2018 में 23, 2019 में 11, 2020 में 11, 2021 में 17 और 2022 में 15 शामिल हैं।

क्या कहते हैं अधिकारी

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता एवी होमकर ने बताया कि लगातार नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। अबतक 3412 नक्सली गिरफ्तार हुए हैं। पुलिस को लगातार सफलता मिल रही है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!