Global Statistics

All countries
265,419,382
Confirmed
Updated on Saturday, 4 December 2021, 9:18:42 pm IST 9:18 pm
All countries
237,011,456
Recovered
Updated on Saturday, 4 December 2021, 9:18:42 pm IST 9:18 pm
All countries
5,262,000
Deaths
Updated on Saturday, 4 December 2021, 9:18:42 pm IST 9:18 pm

Global Statistics

All countries
265,419,382
Confirmed
Updated on Saturday, 4 December 2021, 9:18:42 pm IST 9:18 pm
All countries
237,011,456
Recovered
Updated on Saturday, 4 December 2021, 9:18:42 pm IST 9:18 pm
All countries
5,262,000
Deaths
Updated on Saturday, 4 December 2021, 9:18:42 pm IST 9:18 pm
spot_imgspot_img

हड़िया-दारू बेचने के अभिशाप से महिलाओं को दिलाएंगे मुक्ति : Hemant Soren

सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने गुरुवार को फूलो झानो आशीर्वाद योजना के लाभुकों से संवाद किया।

  • मुख्यमंत्री ने फूलो झानो आशीर्वाद योजना के लाभुकों से किया सीधा संवाद
  • राज्य का पहला दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर का हुआ शुभारंभ
  • सरकार की विभिन्न बीमा योजनाओं से 25 लाख आच्छादित हुए लाभुक
  • मुख्यमंत्री ने 13 करोड़ 45 लाख 60 हजार रुपये का सांकेतिक चेक दिया
  • मंत्री ने 10-10 हजार रुपये का सांकेतिक चेक लाभुक दीदियों को सौंपा

रांची: सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने गुरुवार को फूलो झानो आशीर्वाद योजना के लाभुकों से संवाद किया। मुख्यमंत्री से संवाद कर लाभुक भी काफी उत्साहित दिखे। इस दौरान राज्य का पहला दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर का भी शुभारंभ हुआ। मौके पर मुख्यमंत्री ने लाभुकों को 13 करोड़ 45 लाख 60 हजार रुपये का चेक दिया। साथ ही ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने दीदियों को 10-10 हजार रुपये का चेक सौंपा।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य की महिलाओं के हड़िया-दारू जैसे पेशे से जुड़ने को अभिशाप बताया है। प्रोजेक्ट भवन सभागार में गुरुवार को ग्रामीण विकास विभाग की दीदी हेल्पलाइन सेवा के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी राज्य के लिए इससे बड़ा अभिशाप क्या हो सकता है कि वहां की महिलाएं हड़िया-दारू बेचें। उन्होंने कहा कि इस राज्य में गरीबी और पिछड़ापन है। इसलिए महिलाएं हड़िया-दारू बेचने को मजबूर हैं। महिलाओं को इस पेशे से मुक्ति दिलाने के लिए फूलो-झानो आशीर्वाद योजना लाई गई है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने महिलाओं से संवाद के क्रम में कहा कि झारखंड की जिन वीरांगनाओं फूलो-झानो के नाम पर योजना की शुरूआत की गई आज उसका सार्थक परिणाम सामने आने लगा है। गरीबी और मजबूरी में हड़िया शराब निर्माण और बिक्री के कार्य से जुड़ी महिलाओं ने योजना का लाभ लिया और आत्मविश्वास के बदौलत बदलाव की कहानी गढ़ने लगीं। यह सुखद क्षण है। महिलाएं सरकार का हिस्सा बनें। राज्य के विकास में साथ दें। महिला पुरुष साथ आयेंगे तभी राज्य आगे बढ़ेगा। समाज निर्माण में जितना जरूरी पुरुष की भागीदारी है उतनी ही महिलाओं की भी है।

सरकार ग्राहक बन क्रय करेगी उत्पाद

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाएं हर क्षेत्र में आगे आएं। सरकार उनके साथ है। गाय पालन, मुर्गी पालन, खेती समेत अन्य व्यवसाय में उनका साथ देगी। अभी कुपोषण से मुक्ति दिलाने और आने वाली पीढ़ी को बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए स्कूली बच्चों को सप्ताह में छह दिन अंडा भोजन में देने का प्रावधान किया गया है। राज्य की महिलाएं मुर्गी पालन कर अंडा का उत्पादन करें। राज्य सरकार सभी अंडा को क्रय कर लेगी। इस तरह अन्य उत्पाद जैसे सब्जी, अनाज और पत्ते की थाली का भी निर्माण महिलाएं करें। क्रय सरकार करेगी। बस आप सभी योजना का लाभ लें और उसे सार्थक करें।

मुख्यमंत्री ने दीदियों के कार्यों की सराहना की

मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण काल में जब सब कुछ थम गया था। लोग अपने घरों में दुबके हुए थे। उस समय सखी मंडल की दीदियों ने बेहतरीन और साहस से भरा कार्य किया था। गांव-गांव में लोगों को को भोजन कराया। किसी की भी मृत्यु भूख से नहीं हुई। सखी मंडल के सदस्य इस दौरान मानवता के प्रति किये गए कार्य की मिशाल बनीं थी। सरकार को किसान, महिलाएं और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का विकास करना है। जब तक इनका विकास नहीं होगा, राज्य के विकास की परिकल्पना व्यर्थ है।

महिलाओं का सशक्तीकरण सरकार का लक्ष्य

ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि सरकार की कोशिश रही है कि महिलाओं का सशक्तीकरण कैसे किया जाए। इसके लिए फूलो झानो अभियान का शुभारंभ एक वर्ष पूर्व किया गया। इन्हें ब्याज मुक्त लोन उपलब्ध कराया, ताकि उन्हें सम्मानजनक आजीविका का साधन मिल सके। इस दिशा में सरकार गंभीर है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं का सर्वांगीण विकास सरकार का लक्ष्य है। राज्य की सखी मंडल बेहतर कार्य कर रहीं हैं। संक्रमण काल में इनका कार्य सराहनीय रहा। जेएसएलपीएस से जोड़ कर इन्हें लाभान्वित करने का कार्य किया जा रहा है। सरकार की विभिन्न बीमा से 25 लाख लाभुकों को जोड़ा गया है और 30 लाख लाभुकों को जोड़ने के लक्ष्य के साथ सरकार काम कर रही है। इसे जल्द प्राप्त कर लिया जायेगा। पलाश ब्रांड झारखंड की पहचान बनेगी। हर प्रखंड तक इसकी पहुंच बने इस दिशा में कार्य हो रहा है।

सिर्फ एक कॉल पर जानकारी

मुख्यमंत्री ने दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर का शुभारंभ किया। इसके तहत झारखण्ड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के द्वारा क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं से जुड़ी गतिविधियों से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी सिर्फ एक कॉल पर उपलब्ध होगा। हेल्पलाइन का उद्देश्य है कि जेएसएलपीएस की विभिन्न योजनाओं की जानकारी सुदूरवर्ती गांव के लोगों तक पहुंचना एवं समस्याओं के निराकरण के लिए कार्य करना करना है। इस हेल्पलाइन के टॉल फ्री नंबर 18004190400 एवं 18004197400 पर कॉल के जरिए जेएसएलपीएस द्वार संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी ली जा सकती है।

इस अवसर पर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, सचिव ग्रामीण विकास विभाग मनीष रंजन, मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी जेएसएलपीएस नैंसी सहाय एवं अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!