spot_img

संप चैंबर के साथ Deoghar DC की बैठक, श्रावणी मेला, एलपीसी, म्युटेशन व बालू और स्टोन चिप्स के अलावा इन मुद्दों पर हुई चर्चा

Deoghar: देवघर उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री (Deoghar DC Manjunath Bhajantri) की अध्यक्षता में संथाल परगना चैम्बर ऑफ कॉमर्स (Santhal Pargana Chamber of Commerce) के अध्यक्ष व सदस्यों के साथ समाहरणालय सभागार में बैठक का आयोजन सोमवार को किया गया। बैठक में चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों द्वारा एलपीसी, लगान रसीद, म्युटेशन, बालू एवं स्टोन चिप्स के सुगम उपलब्धता और होटल व्यवसाय को बढ़ाने से संबंधित कार्यो में आ रही समस्याओं से उपायुक्त को अवगत कराया गया। इस दौरान उपायुक्त ने मामले को संज्ञान में लेते हुए संबंधित अधिकारियों को समस्याओं के समाधान के साथ आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया।

बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा एलपीसी (LPC) से संबंधित आ रही समस्याओं के सम्बंध में जानकारी देते हुए कहा कि एलपीसी के लिए प्राप्त आवेदनों के निष्पादन को लेकर अंचल के रिकॉर्ड और जिला के रिपोर्ट का मिलान करते हुए जो भी समस्याएं हैं उनका निदान कराया जाएगा।

डीसी ने सभी सदस्यों से कहा कि राजकीय श्रावणी मेला, 2022 (Shravani Mela, 2022) के आगमन के अलावा हम सभी को जिला के बेहतरी हेतु सकारात्मक सोच के साथ कार्य करने की आवश्यकता है, ताकि सही मायने में हमारे जिले का और बेहतर विकास संभव हो सके।

■ म्युटेशन एवं लगाना रसीद का निपटारा कैम्प के माध्यम से किया जाएगा

उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि देवघर जिला अंतर्गत म्युटेशन एवं लगान रसीद में आ रही समस्याओं के निदान को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में कैम्प का आयोजन किया जाएगा। जहाँ संबंधित अधिकारियों व कर्मियों के माध्यम से उचित समाधान कराया जाएगा। साथ ही जिला स्तर पर सारे कार्यो का निरीक्षण उपायुक्त द्वारा किया जाएगा। चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों द्वारा बैठक के माध्यम से उपायुक्त को बालू एवं स्टोन चिप्स के समस्या से अवगत कराया। इस संदर्भ में उपायुक्त द्वारा जिला खनन पदाधिकारी देवघर को उचित दिशा निर्देश दिया साथ ही बालू एवं स्टोन चिप्स के समस्या से जल्द से जल्द निराकरण करने का निदेश दिया।

■ श्रावणी मेला-2022 के सफल संचालन में आप सभी का सहयोग अपेक्षित:डीसी

बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों से कहा कि श्रावणी मेला-2022 कोविड की वजह से दो सालो के बाद होने जा रहा है। ऐसे में श्रद्धालुओं की संख्या में अत्यधिक होने की आशा है। ऐसे में मेला के सफल क्रियान्वयन को लेकर जिला प्रशासन के साथ-साथ आप सभी का सहयोग आवशयक है, ताकि देवतुल्य श्रद्धालुओं को हर संभव सुविधा मुहैया कराई जा सके। बैठक में चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों द्वारा कहा गया कि श्रावणी मेला के दरम्यान श्रद्धालुओं की भीड़ दर्दमारा, खिजुरिया, कावरिया पथ की ओर ही सिमट जाता हैं। टावर चौक या फिर मुख्य शहर की ओर उतना अधिक श्रद्धालु नहीं आ पाते हैं जिससे कि होटल आदि के व्यवसाय पर काफी असर पड़ता हैं। इस संदर्भ में उपायुक्त ने चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों को एक प्रपोजल उपायुक्त कार्यालय को समर्पित करने की बात कही, ताकि जिला स्तर पर अनुमंडल पदाधिकारी देवघर, जिला परिवहन पदाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक यातायात द्वारा सर्वेक्षण करा कर उचित कार्यवाही की जा सके।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!