spot_img

बाढ़ के पानी में भी दी गई तिरंगे को सलामी

गंगा नदी के बाढ़ से प्रभावित इलाकों के विद्यालयों में शिक्षकों ने ठेहुना से लेकर छाती भर तक पानी में खड़े होकर तिरंगे को सलामी दी। ऐसा ही नजारा देखने को मिला तेघड़ा प्रखंड के रामपुर प्राथमिक विद्यालय तथा बलिया प्रखंड के मसुदनपुर मध्य विद्यालय समेत अन्य जगहों पर।

बेगूसराय: गंगा के जलस्तर में लगातार वृद्धि जारी रहने से बेगूसराय में बाढ़ की स्थिति दिनों-दिन विकराल होती जा रही है। बाढ़ के पानी में डूब कर रोज लोगों की मौत हो रही है, शासन-प्रशासन राहत और बचाव कार्य में जुटा हुआ है। इन सारे प्रयासों के बीच आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर रविवार को बाढ़ ग्रस्त इलाके में भी तिरंगा शान से लहराया।

गंगा नदी के बाढ़ से प्रभावित इलाकों के विद्यालयों में शिक्षकों ने ठेहुना से लेकर छाती भर तक पानी में खड़े होकर तिरंगे को सलामी दी। ऐसा ही नजारा देखने को मिला तेघड़ा प्रखंड के रामपुर प्राथमिक विद्यालय तथा बलिया प्रखंड के मसुदनपुर मध्य विद्यालय समेत अन्य जगहों पर।

जहां लोगों को आशा नहीं थी कि इस बाढ़ के प्रलयंकारी समय में विद्यालय में तिरंगा फहराया जाएगा लेकिन प्रधानाध्यापक समेत सभी शिक्षक पानी में भींगकर विद्यालय पहुंचे और कमर भर से अधिक पानी में खड़े होकर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और सलामी दी। इस दौरान कुछ अभिभावक और बच्चे भी उपस्थित थे।

झंडोत्तोलन करने के बाद पानी से बाहर आए शिक्षकों की ग्रामीणों ने सराहना की। इसका वीडियो और फोटो खूब वायरल किया जा रहा है। लोग कह रहे है कि आजादी के जश्न का जज्बा ऐसा ही होना चाहिए, जब प्रलयंकारी बाढ़ में लोग घर से बाहर निकलने और पानी में जाने से परहेज कर रहे हैं, ऐसे दौर में भी यहां के शिक्षकों ने जो कार्य किया है, उसकी जितनी सराहना की जाये कम है।

इसी तरह साहेबपुर कमाल, मटिहानी, बरौनी एवं बछवारा प्रखंड के भी बाढ़ प्रभावित विद्यालयों में पानी में खड़े होकर शिक्षकों ने राष्ट्रध्वज फहराया।

इन्हें भी पढ़ें:

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!