Global Statistics

All countries
339,676,265
Confirmed
Updated on Thursday, 20 January 2022, 3:23:49 pm IST 3:23 pm
All countries
271,046,154
Recovered
Updated on Thursday, 20 January 2022, 3:23:49 pm IST 3:23 pm
All countries
5,584,473
Deaths
Updated on Thursday, 20 January 2022, 3:23:49 pm IST 3:23 pm

Global Statistics

All countries
339,676,265
Confirmed
Updated on Thursday, 20 January 2022, 3:23:49 pm IST 3:23 pm
All countries
271,046,154
Recovered
Updated on Thursday, 20 January 2022, 3:23:49 pm IST 3:23 pm
All countries
5,584,473
Deaths
Updated on Thursday, 20 January 2022, 3:23:49 pm IST 3:23 pm
spot_imgspot_img

चीन की सीमा पर बजी मोबाइल की घंटी, लद्दाख के डेमचोक में Reliance Jio ने लगाया 4G टावर

रिलायंस जियो (Reliance Jio) के नए मोबाइल टावर की मार्फत इस इलाके में 4जी मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंची है।

लद्दाख: चीन की सीमा से सटे, लद्दाख के सुदूर सीमावर्ती गांव डेमचोक में पहली बार मोबाइल की घंटी घनघना रहीं है। डेमचोक में लगे रिलायंस जियो (Reliance Jio) के नए मोबाइल टावर की मार्फत इस इलाके में 4जी मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंची है।

दशकों से इस इलाके को कनेक्टिविटी का इंतजार था। पहली बार लोग 4जी वॉयस और डेटा मोबाइल नेटवर्क से जुड़े हैं। लेह से सांसद जामयांग त्सेरिंग नामग्याल ने जियो मोबाइल टावर का उद्घाटन किया और सीमावर्ती गांव के लोगों, सेना व आईटीबीए के जवानों और यात्रियों को 4जी सेवाएं समर्पित कीं।

समय पर मोबाइल टावर का काम पूरा करने के लिए सांसद ने रिलायंस जियो के अधिकारियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि यह टावर इस क्षेत्र के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा। बताते चलें कि इस इलाके में होने वाली भारी बर्फबारी और खराब मौसम की वजह से साल भर में केवल 6 से 7 महीने ही काम हो पाता है। डेमचोक के अलावा, लद्दाख के सीमावर्ती गांव चुशुल, न्योमा थारुक और दुरबुक में भी 4जी सेवाओं का उद्घाटन किया गया।

लद्दाख में रिलायंस जियो के 168 मोबाइल टावर काम कर रहे हैं। सियाचिन बेस कैंप और ज़ांस्कर रिजन में Jio एकमात्र टेलीकॉम नेटवर्क ऑपरेटर है। संकू, तैफसुरु, शार्गोल, नुब्रा, खालसी, खारू, द्रास, पनामिक जैसे दूर दराज के ब्लॉकों के विभिन्न गांवों को पहले ही जियो नेटवर्क द्वारा कवर किया जा चुका है। रिलायंस जियो कई दूरदराज के अन्य गांवों में भी नेटवर्क कवरेज को विस्तार देने का काम कर रही है। जियो को सरकारी USOF के तहत 62 टावर लगाने का जिम्म मिला है, जिनमें से 44 टावर काम करने लगे हैं।

बेहद कठिन परिस्थितियों वाले इस इलाके में नेटवर्क मजबूत बना रहे इसलिए लद्दाख को जियो ने तीन अलग अलग फाइबर रूट्स से जोड़ा है। यह फाइबर केबल रूट्स हैं लेह-श्रीनगर, लेह-मनाली (हिमाचल प्रदेश) और लेह-गुरेज़। दो रूट्स अभी चालू हैं जबकि लेह गुरेज़ फाइबर रूट के जल्द ही चालू होने की उम्मीद है।

डेमचोक में Jio 4G सेवाओं की शुरुआत केंद्र शासित प्रदेश के समुदाय और पर्यटन उद्योग के लिए एक वरदान है। दूरसंचार सेवाओं की शुरूआत से स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्रों में सीमावर्ती निवासियों के जीवन में उल्लेखनीय परिवर्तन आने की उम्मीद है। 4जी सेवाएं न केवल निवासियों की सामाजिक स्थिति को प्रभावित करने वाली हैं, बल्कि क्षेत्र के आर्थिक विकास में भी एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित होंगी क्योंकि इससे स्थानीय युवाओं और व्यापारियों के लिए कमाई के अवसर पैदा होंगे।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!