spot_img

गोल्डन गर्ल अवनि को तीन करोड़ देगी राजस्थान सरकार

सीएम गहलोत ने ट्वीट कर अवनि लखेरा को स्वर्ण जीतने पर 3 करोड़, देवेंद्र झांझड़िया के सिल्वर जीतने पर 2 करोड़ और सुन्दर सिंह गुर्जर को कांस्य पदक जीतने पर एक करोड़ रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की।

जयपुर: टोक्यो पैरालंपिक में राजस्थान के तीन खिलाड़ियों के इतिहास रचने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तीनों खिलाड़ियों को बधाई देते हुए इनाम की घोषणा की है। सीएम गहलोत ने ट्वीट कर अवनि लखेरा को स्वर्ण जीतने पर 3 करोड़, देवेंद्र झांझड़िया के सिल्वर जीतने पर 2 करोड़ और सुन्दर सिंह गुर्जर को कांस्य पदक जीतने पर एक करोड़ रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की। तीनों खिलाड़ियों को पहले से ही राज्य सरकार ने वन विभाग में एसीएफ के पद पर नियुक्ति दी है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तीनों को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों ने पदक जीतकर देश-प्रदेश का नाम रोशन किया है, हमें उन पर बेहद गर्व है। अवनि लखेरा ने राइफल शूटिंग में सटीक निशाना लगाकर गोल्ड मेडल जीता है। जबकि, चूरू के पैरालंपिक जेवलिन थ्रोअर देवेंद्र झांझड़िया ने सिल्वर मेडल जीता है। करौली जिले के सुंदर सिंह गुर्जर ने पुरुष जेवलिन थ्रो इवेंट ब्रॉन्ज पदक जीता है।

टोक्यो पैरालिंपिक के शूटिंग मुकाबले में गोल्ड जीतकर गोल्डन गर्ल बनी अवनि लखेरा ने बता दिया कि जोश और जुनून के साथ खेलने पर पर कुछ भी असंभव नहीं है। 2012 में हुए एक्सीडेंट के बाद अवनि पैरों पर खड़ी नहीं हो सकी और व्हील चेयर पर आ गई थी, लेकिन उन्होंने हाथों और नजर के बल पर निशानेबाजी से खुद को खड़ा किया।

सोमवार के इवेंट में पैरालंपिक जेवलिन थ्रोअर देवेंद्र झांझड़िया ने सिल्वर मेडल जीता है और सुंदर सिंह गुर्जर ने पुरुष जेवलिन थ्रो इवेंट टोक्यो पैरालंपिक में ब्रॉन्ज पदक जीता है। झांझड़िया पैरालंपिक में दो स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय पैरालंपियन हैं। 2004 पैरालंपिक एथेंस में उन्होंने पहला स्वर्ण पदक जीता था। रियो डी जनेरियो 2016 पैरालंपिक खेल में उन्होंने अपने पहले रिकॉर्ड को बेहतर बनाते हुए एक ही टूर्नामेंट में दूसरा स्वर्ण पदक जीता था। 40 साल के देवेंद्र झांझड़िया चूरू के रहने वाले हैं। उन्हें पैरा-एथलेटिक्स के लिए राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, पद्म श्री और अर्जुन अवार्ड मिल चुका है। देवेंद्र झांझड़िया ने टोक्यो में 64.35 मीटर की दूरी तक भाला फेंकते हुए देश के लिए सिल्वर मेडल जीता है। सुंदर सिंह गुर्जर ने 64.01 मीटर तक भाला फेंककर ब्रॉन्ज मेडल जीता है। 25 वर्षीय सुंदर सिंह गुर्जर करौली जिले के हिंडौन के रहने वाले हैं। गुर्जर भारतीय पैरालंपिक भाला फेंक, शॉट पुटर और डिस्कस थ्रोअर हैं जो एफ-46 स्पर्धाओं में प्रतिस्पर्धा करते हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर राजस्थान पैरालंपिक जेवलिन थ्रोअर्स को भी शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि देवेंद्र झांझड़िया ने सिल्वर मेडल जीता है और सुंदर सिंह गुर्जर ने पुरुष जेवलिन थ्रो इवेंट टोक्यो पैरालंपिक्स में ब्रॉन्ज पदक जीता है। उन्होंने लिखा है कि हमें राजस्थान के पैरालंपिक जेवलिन थ्रोअर्स पर गर्व है। यह एक शानदार पल है। देवेंद्र झांझड़िया और सुंदर सिंह गुर्जर को हार्दिक बधाई।

इन्हें भी पढ़ें:

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!