spot_img
spot_img

Deoghar: 74वें गणतंत्र दिवस पर केकेएन स्टेडियम में मंत्री हफीजुल हसन ने किया झंडोतोलन, कहा-महिलाओं को आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बनाना राज्य सरकार की प्राथमिकता

Deoghar: आज 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य समारोह स्थल केकेएन स्टेडियम में मंत्री हफीजुल हसन अल्पसंख्यक, कल्याण, पर्यटन, कला संस्कृति, खेल एवं युवा कार्य तथा निबंधन विभाग झारखण्ड सरकार द्वारा झण्डोतोलन किया गया। इस दौरान मंत्री ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि 74वें गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर शताब्दियों के परतंत्रता के उपरांत भारत 15 अगस्त, 1947 को स्वतंत्र हुआ था। 26 जनवरी,1950 को भारत पूर्णरूपेण गंणतंत्र राज्य घोषित कर दिया गया एवं इसी दिन हम पूर्ण रूप से स्वाधीन हो गए। विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारतवर्ष के संविधान निर्माणकर्त्ता, बाबा भीम राव अम्बेदकर देश के स्वतंत्रता संग्राम में खून-पसीना बहाने वाले सभी शहीदों का सतत् नमन। इसके अलावे मंत्री हफीजुल हसन ने सभी देवघर जिलावासी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि भारत के हर नागरिक और पूरी दुनिया जानती है कि हमारा देश आज 74वें गणतंत्र दिवस मना रहा है। 26 नवम्बर, 1949 को भारत का संविधान लिखी गयी थी तथा आज ही के दिन 26 जनवरी, 1950 को इसे लागू किया गया। भारत का संविधान लिखने और इसे लागू कराने का श्रेय डॉ0 बाबा साहेब भीम राव अम्बेदकर को जाता है। आज इस गौरवमयी राष्ट्र दिवस के दिन हम सभी भारतवासी बाबा साहेब को अन्तःकरण से शत-शत नमन करते है।

हर्ष जोहार कार्यक्रम के तहत देवघर जिला के तीन विद्यालयों का चयन: मंत्री

इसके अलावे माननीय मंत्री हफीजुल हसन ने देवघर जिला में वर्ष 2022-23 के दरम्यान अबतक राज्य एवं केन्द्र सरकार की योजनाओं की उपलब्धि से अवगत कराते हुए कहा कि झारखण्ड शिक्षा परियोजना के अन्तर्गत प्रोजेक्ट सम्पूर्ण के तहत चयनित 80 उत्कृष्ट विद्यालयों में हर्ष जोहार कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है, जो हमारे माननीय मुख्यमंत्री जी के ड्रीम प्रोजेक्ट का एक हिस्सा है। इसमें देवघर जिले के 3 विद्यालयों का चयन किया गया है। इस कार्यक्रम के तहत छात्र एवं छात्राओं को ना केवल उनके शैक्षणिक अपितु उनकी सामाजिक एवं भावनात्मक विकास पर भी बल दिया गया है। राज्य साक्षरता मिशन के अन्तर्गत देवघर जिले में भी नवभारत साक्षरता कार्यक्रम की शुरूआत की गई है, जिसके तहत निरक्षरों को साक्षर बनाना है। राज्य/जिला की साक्षरता दर में वृद्धि तथा महिला एवं पुरूष के बीच साक्षरता अनुपात का अन्तर कम करने का प्रयास किया जा रहा है। झारखण्ड राज्य के महत्वाकांक्षी योजना के अन्तर्गत राज्य में कुल 80 उत्कृष्ट विद्यालयों एवं 325 आदर्श विद्यालयों की रूपरेखा तय की गई है जिसके तहत शिक्षा के स्तर एवं गुणवत्ता के उन्नयन के लिए इन विद्यालयों को सी0बी0एस0ई0 बोर्ड से जोड़ा जा रहा है। इस योजनान्तर्गत देवघर जिले में 3 उत्कृष्ट विद्यालय 1. आर मित्रा +2 विद्यालय, देवघर, 2. मातृ मंदिर उच्च विद्यालय एवं 3. कस्तुरबा गाँधी बालिका विद्यालय, देवघर, एवं 13 आदर्श विद्यालय को शामिल किया गया है।

अपने अभिभाषण में मंत्री हफीजुल हसन द्वारा जानकारी दी गयी कि प्रधानमंत्री के कर-कमलों द्वारा 12 जुलाई, 2022 को एम्स देवघर में 250 इण्डोर बेड वाले अस्पताल का उद्घाटन किया गया। एम्स के उद्घाटन से देवघरवासियो को बेहतर चिकित्सा के लिए अब बाहर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। देवघर के अलावे झारखण्ड राज्य के कई जिले, बिहार एवं बंगाल के मरीज भी यहाँ चिकित्सा उपचार के लिए आते है। पी0 एम0 आयुष्मान भारत हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर मिशन, योजना के तहत देवघर जिला में 25 भवनविहीन स्वास्थ्य उपकेन्द्र निर्माण के लिए 13.875 करोड़ की स्वीकृति तथा 15वीं वित्त के तहत 499.50 की लागत से जिले में 09 स्वास्थ्य उपकेन्द्र कर निर्माण कार्य कराया जा रहा है। साथ ही कृषि विभाग द्वारा 2680 नये किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण किया गया तथा मुख्यमंत्री सुखाड राहत योजना के तहत 73783 लाभुकों के बैंक को 3500 रूपये की दर से भुगतान किया जा रहा है। पुरे राज्य में देवघर जिला में सबसे ज्यादा 284322 किसानों को निबंधन करवाया गया। साथ ही, उद्यान विकास योजना अन्तर्गत 650 एकड़ में फल एवं सब्जियों की खेती की जा रही है। बिरसा फसल योजना के तहत 2432.10 क्वींटल बीज का वितरण किया गया। 74 किसानों को मिनी स्प्रिंकलर एवं 15 किसानों को ड्रिप स्प्रिंकलर की स्वीकृति प्रदान की गई है। वहीं मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना अन्तर्गत जिला स्तरीय चयन समिति द्वारा कुल 2774 लाभुकों का चयन किया गया, जिसमें से 2461 लाभुकों के खाते में डी0बी0टी0 के माध्यम 277.80 लाख (दो करोड़ सत्तहत्तर लाख अस्सी हजार रूपये) का भुगतान किया गया। साथ ही कल्याण विभाग द्वारा 104385 छात्र/छात्राओं को 208.98 लाख रूपये का छात्रवृत्ति तथा अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण के तहत कुल 44 पिड़ितों को 15.00 लाख रूपये अनुदान दी गई। साथ ही इस वर्ष 408.75 लाख की लागत से 6 अनुसूचित जाति तथा 4 अनुसूचित जनजाति छात्रावास का मरम्मति कार्य कराया गया।

इसके अलावे माननीय मंत्री हफीजुल हसन द्वारा जानकारी दी गयी कि मुख्यमंत्री सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना अन्तर्गत 25699 लाभुकों के बीच 978.95 लाख मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अन्तर्गत 328 लाभुकों को 98.40 लाख का भुगतान किया गया। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत इस वर्ष 3385 लाभुकों को योजना से जोड़ा गया है। साथ ही 170 दिव्यांगों को दिव्यांग यंत्र का बाँटा गया। साथ ही वर्ष 2022-23 में अबतक मुख्यमंत्री राज्य सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना द्वारा संचालित विभिन्न पेशंन योजना के तहत 167858 लाभुकों को पेंशन का भुगतान किया गया। साथ ही 56027 जरूरतमंद लोगों के बीच कम्बल का वितरण किया गया। आगे उन्होंने कहा कि झारखण्ड खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत 12905 लाभुकों को धोती साड़ी लुंगी, 5801 सदस्यों को राशन कार्ड से जोड़ा गया, 985 नया ग्रीन कार्ड का वितरण, 881 नया ग्रीन कार्ड का रिजस्ट्रेशन कराया गया। साथ ही मनरेगा अन्तर्गत इस वर्ष 32786 योजनाएँ पूर्ण कर ली गई है। तथा 44.50 लाख मानव दिवस का सृजन करते हुए 123.65 करोड़ रूपये का व्यय किया जा चुका है। व्यय की दृष्टिकोण से देवघर जिला राज्य में तीसरे पायदान पर है। बिरसा हरित ग्राम योजना अन्तर्गत 1235 एकड़ पर 1238 किसानों द्वारा बागवानी कार्य किया जा रहा है। इसके अलावे इस वित्तीय वर्ष में 18939 प्रधानमंत्री आवास का निर्माण कराया गया। साथ ही 515 बाबा साहेब अम्बेदकर आवास तथा 61 बिरसा मुण्डा आवास की स्वीकृति प्रदान की गई है। वहीं मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना अन्तर्गत 2324 तथा फूलो-झानो आर्शीवाद योजना के अन्तर्गत 728 महिलाओं को रोजगार देने की व्यवस्था की गई। देवघर जिला में प्लास्टिक बैन के साथ दोना-पत्तल बनाने पर अच्छा कार्य हो रहा है। जिससे ग्रामीण क्षेत्र के महिलाओं को जिविकोपार्जन के नये स्त्रोत उत्पन्न हो रहे है। आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार आयोजित कार्यक्रम के दरम्यान 153451 मामले का निष्पादन किया गया। साथ ही प्रधानमंत्री के कर-कमलों द्वारा 12 जुलाई, 2022 को देवघर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा का उद्घाटन किया गया। वर्त्तमान में प्रतिदिन यहाँ से कलकता एवं दिल्ली के लिए उड़ाने भरी जा रहा है। भविष्य में देश के सभी मेट्रो शहरो को वायुमार्ग से जोड़ने की योजना है। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा निर्माण यहाँ के वासियों के लिए गौरव की बात है। देवघर जिला में पर्यटन विभाग द्वारा कुल 56 योजनाएँ संचालित है, जिसमें प्रमुख रूप से टीकोपहाड़ी, बुद्धा पहाड़ एवं पाथरोल काली मंदिर का सौन्दर्यीकरण, तपोवन पहाड़ सिढ़ी पर स्टील रेलिंग, त्रिकुट पहाड़ पर प्रकाश व्यवस्था योजना शामिल है। 70.00 (सत्तर लाख) रूपये की लागत से नन्दन पहाड़ के पास जलक्रीडा की व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री आमंत्रण फुटबॉल बालक एवं बालिका प्रतियोगिता के लिए प्रखंड स्तर पर भाग लेने वाले पंचायत टीम के 3187 खिलाड़ियो को जर्सी एवं खेल किट्स का वितरण किया गया। राष्ट्रीय युवा दिवस-2022 के अवसर पर आधारित राज्य स्तरीय स्पोर्टस क्वीज प्रतियोगिता में धमेन्द्र कुमार एवं राहुल कुमार, जवाहर नवोदय विद्यालय, रिखिया देवघर के छात्र को प्रथम स्थान तथा राज्य स्तरीय एथलेटिक्स में 02 गोल्ड, 02 सिल्वर, 03 ब्रोंज तथा बैडमिंटन में 01 गोल्ड एवं 01 सिल्वर देवघर जिला के खिलाड़ी को मिला जो इस जिला के लिए गौरव की बात है। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा 24.50 करोड़ रूपये की लागत से 7 (सात) सोलर आधारित ग्रामीण पाईप जलापूर्ति तथा 12 एस0भी0एस0 योजना विद्युत विभाग द्वारा 10.20 करोड़ की लागत से श्रैठ।ल् योजना अन्तर्गत 33/11 के0वी0 का चार विद्युत शक्ति उपकेन्द्र निर्माण कार्य पूर्ण कराया गया। पथ निर्माण विभाग द्वारा 13773.66 लाख के लागत से नो सड़क परियोजनाएँ पूर्ण कराया गया तथा 5122.00 लाख की चार सड़क परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर है। साथ ही सहकारिता विभाग से 3.25 करोड़ की लागत से 30 एम0टी0 कोल्ड रूम का निर्माण, भूमि संरक्षण सर्वेक्षण विभाग से 4.10 करोड़ की लागत से 25 तालाब का जीर्णोद्धार कराया गया। वर्ष 2022-23 में 128 तालाब निर्माण/जीर्णोद्धार लक्ष्य प्राप्त हुआ है जो प्रक्रियाधीन है। 15वीं वित्त के तहत 24.19 करोड़ की लागत से 815 योजनाओ का कार्य पूर्ण किया जा चूका है। आई0ओ0सी0एल0 जसीडीह के सी0एस0आर0 निधि से देवघर जिला के 36 मॉडल आँगनबाड़ी केन्द्रों के सौन्दर्यीकरण एवं सुसज्जीकरण पर 54.00 लाख रूपये का व्यय तथा डी0एम0एफ0टी0, पी0एम0के0के0के0वाई0 के तहत चितरा कोल माईन्स खनन प्रभावित क्षेत्र में 6.24 करोड़ रूपये की लागत से 33 योजनाओं का कार्य पूर्ण कराया गया। इसके अलावा जिला पुलिस प्रशासन, देवघर का अपराध नियंत्रण में उल्लेखनीय योगदान रहा। विगत वर्ष में 2052-गिरफ्तारियाँ, 43-आर्म्स की बरामदगी, 151-गोली, 29-खोखा तथा 2213100.00 रूपये नगद राशि बरामद किए गए। साईबर अपराध नियंत्रण के लिए 297-गिरफ्तारियाँ, 486-मोबाईल, 178-ए0टी0एम0 कार्ड बरामद किए गए। पूरे देश के कई अनसुलझे साईबर अपराध का उद्भेदन किया गया। साईबर अपराध नियंत्रण मामले में देवघर जिला राष्ट्र में सर्वोपरि रहा है। पैट्रोलिंग वाहन निरंतर क्षेत्र में भ्रमणशील रहे इसके लिए महिलाओं की सुरक्षा हेतु ई-बीट पेट्रोलिंग के तहत कुल 66 जगहों पर फत् कोड लगाया गया है। साथ ही जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन, देवघर द्वारा इस वर्ष विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला देवघर मेला के दरम्यान बाबा बैद्यनाथ मंदिर में जलाभिषेक के लिए बेहतर व्यवस्था की गई थी। इसके लिए पुलिस प्रशासन, जनप्रतिनिधि, मिडियाकर्मी एवं जिला देवघर के आम नागरिक धन्यवाद के पात्र हैं।

इसके अलावे उपरोक्त कार्यक्रम में उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री, पुलिस अधीक्षक सुभाष चन्द्र जाट, जिला परिषद अध्यक्ष किरण कुमारी, उप विकास आयुक्त डॉ0 कुमार ताराचन्द, जिला बीस सूत्री उपाध्यक्ष मुन्नम संजय, विधायक प्रतिनिधि संजय शर्मा, अपर समाहर्ता चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह, डीआरडीए निदेशक परमेश्वर मुण्डा, अनुमंडल पदाधिकारी दीपांकर चौधरी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पवन कुमार पांडे, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी रवि कुमार, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, गोपनीय प्रभारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता पथ प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता राष्ट्रीय उच्च पथ प्रमंडल, सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी के साथ-साथ संबंधित विभाग के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, समाजसेवी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!