spot_img
spot_img

Deoghar Rope-way हादसा के दौरान लोगों की मदद करने वाले स्थानीय को मिला सम्मान

देवघर स्थित त्रिकूट रोपवे (Trikut Ropeway) पर हुए हादसे के दौरान फंसे हुए लोगों की मदद करने वाले स्थानीय लोगों को राज्य सरकार ने सम्मानित किया है।

Deoghar: देवघर स्थित त्रिकूट रोपवे (Trikut Ropeway) पर हुए हादसे के दौरान फंसे हुए लोगों की मदद करने वाले स्थानीय लोगों को राज्य सरकार (State government) ने सम्मानित किया है।

त्रिकुट रोपवे घटना के दौरान स्थानीय लोगों के अदम्य साहस, सहयोग और समर्पण भावना के लिए राज्य सरकार के निदेशानुसार सोमवार को समाहरणालय सभागार में सूबे के पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख और देवघर विधायक नारायण दास द्वारा सभी को प्रशस्ती पत्र व शॉल देकर सम्मानित किया गया।

इन्हें मिला सम्मान:

  • हादसे के दौरान तिरनगर के रहने वाले पन्नालाल पंजयारा ने अपनी जान की परवाह किये बगैर कुल 05 ट्राली में से 18 लोगो को सुरक्षित रूप से ट्राली से निकाला।
  • सिरसा गांव के गोविन्द सिंह जो पन्ना लाल का अहम् सहयोगी एवं 24 न ० ट्राली गिर जाने पर उसमे फंसे 03 व्यक्ति में से 01 को अपने कंधे पर ले कर पैदल मार्ग से निचे सुरक्षित उतरने में सहयोग किया।
  • तिरनगर के पप्पू सिंह ने वहां एकत्रित लोगों को माइक से सावधानी व जागरूकता को लेकर पुरे दिन सतर्क करता रहा और मटेरियल रोप वे को राहत कार्य के लिये संचालन में मदद किया।
  • बसदिहा के कन्हैया लाल कापरी ने पप्पू सिंह के साथ में रह कर मटेरियल रोप वे को सुचारू रूप से संचालन में अहम् मदद किया।
  • उपेन्द्र विस्वकर्मा, त्रिकुट रोप वे फोरमैन सभी रोप वे स्टाफ को सही निर्देश देने का काम कर रहे थे।
  • गिरिडीह के नरेश गुप्ता ने 24 नं० ट्राली गिर जाने पर उसमें फसे 03 व्यक्ति में से 01 को अपने कंधे पर ले कर पैदल मार्ग से निचे सुरक्षित उतरा।
  • बर्नपुर के कृष्णा साह ने भी 24 नं० ट्राली गिर जाने पर उसमे फसे 03 व्यक्ति में से 01 को अपने कंधे पर ले कर पैदल मार्ग से निचे सुरक्षित उतरा।
  • बसदिहा के रहने वाले बिट्टू कापरी ने फंसे हुए लोगो को ड्रोन से पानी एवं बिस्कुट पहुंचाया।
  • बसदिहा के ही गोपाल कापरी और शुभाष मंडल ने भी मटेरियल रोप वे को चला कर फंसे हुए लोगों को राहत सामग्री पहुंचाने का काम किया।
  • सिरसा गांव के चन्दन तुरी फंसे हुए लोगो एवं सहयता कर रहे सभी लोगो को पानी और चाय पुरे ऑपरेशन ख़त्म होने तक पहुंचाता रहा।
  • जमशेदपुर के विजय यादव और हिंडोला वरण निवासी रोहित राय ने ट्राली नं० 11 में गम्भीर घायल एक असम की महिला को खिड़की तोड़ कर पुलिस बल की सहायता से निकला एवं इलाज के लिए थाने की हाईवे पेट्रोल्लिंग गाड़ी से हॉस्पिटल पहुचाया, जिससे उसकी जान बच सका।
  • बसदिहा निवासी अभिकांत चौधरी अपनी गाड़ी से राहत सामग्री , पानी , बिस्कुट को पहाड़ तक बराबर पहुंचता रहा।
  • इसी तरह दिनेश महतो, सिरसा राहत कार्य सहयोगी। राजू कुमार सिंह, सिरसा शुरू से अंत तक सभी सहयोग कर रहे लोगों को हौसला बढ़ाता रहा एवं राहत सामग्री पहुचता रहा। विकाश यादव, तिरनगर भी शुरू से अंत तक सभी सहयोग कर रहे लोगो को हौसला बढ़ता रहा एवं राहत सामग्री पहुंचता रहा। सरजू पुजहर, सिरसा पानी एवं साफ़ सफाई का कार्य के लिए मौजूद रहा। मनोज पांडा, बसदिहा 02 नं० टावर के पास तक राहत सामग्री पहुंचने का काम करता रहा। बालकिशुन यादव, नबदी बैनपुर मैकेनिकल स्टाफ रोप वे मटेरियल रोप वे को नियंत्रण में सहयोग दिया। यसवंत सिंह, सिरसा राहत कार्य में सहयोग करता रहा।  प्रफुल पंजयारा, तिरनगर 02 नं० टावर के पास तक रहत सामग्री पहुचने का काम करता रहा। शुभाष कुमार, सिरसा राहत कार्य में सहयोग। सुनील यादव, तिरनगर राहत कार्य में सहयोग एवं इलेक्ट्रीशियन के काम में अहम् मदद किया। अशोक महतो, सिरसा राहत कार्य में सहयोग। हृदय कापरी, बसदिहा राहत कार्य में सहयोग।  तिलाम्बर चौधरी, बसदिहा रेस्क्यू कार्य के हेल्पर के रूप में लगा रहा। कुंदन कुमार राज बांझी शुरू से अंत तक सभी को राहत सामग्री मुहैया करने में अहम् सहयोग रहा।

इन सभी को सम्मानित किया गया। इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि आप सभी ग्रामीण ने आपदा में जिस तरह से सहयोग व साहस का परिचय दिया हैं वो काबिले तारीफ है।

मंत्री हफीजुल हसन ने कहा सभी लोगो को समाज के मुख्य धारा से जोड़ने हेतु राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा नियमानुसार आगे भी आवश्यक कार्य किये जायेंगे।

देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने त्रिकूट रोपवे घटना में सहयोग करने वाले स्थानीय लोगों का धन्यवाद करते हुए आभार प्रकट किया।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!