spot_img
spot_img

Jharkhand News: चतरा में हुए छात्रवृत्ति घोटाले में 9.33 करोड़ रुपए गबन का मुख्य आरोपी आशुतोष कुमार देवघर से गिरफ्तार

चतरा पुलिस ने कल्याण विभाग में हुए छात्रवृत्ति व साइकिल घोटाले में 9 करोड़ 33 लाख रुपये गबन के मामले में फरार चल रहे मुख्य आरोपी आशुतोष कुमार को देवघर के नगर थाना क्षेत्र के सलौनाटांड मोहल्ले से गिरफ्तार किया है।

Budget 23-24 में नहीं चमका सोना

Deoghar: चतरा पुलिस ने कल्याण विभाग में हुए छात्रवृत्ति व साइकिल घोटाले में 9 करोड़ 33 लाख रुपये गबन के मामले में फरार चल रहे मुख्य आरोपी आशुतोष कुमार को देवघर के नगर थाना क्षेत्र के सलौनाटांड मोहल्ले से गिरफ्तार किया है। ज्ञात हो कि आशुतोष कुमार तत्कालीन कल्याण पदाधिकारी के पद पर कार्यरत थे और इस कांड के मुख्य आरोपी हैं।

जांच के बाद आशुतोष कुमार को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था। चतरा के पूर्व वे देवघर में कार्यपालक दंडाधिकारी, प्रभारी जेल अधीक्षक व मोहनपुर के प्रभारी सीओ के तौर पर भी कार्यरत रह चुके हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, 9.33 करोड़ के घोटाले के आरोपियों में पूर्व जिला कल्याण पदाधिकारी आशुतोष कुमार, भोलानाथ लागुरी, नाजिर इंद्रदेव प्रसाद प्रधान सहायक काशी प्रसाद गुप्ता, एनजीओ सेनवर्ड के अधिकारी, प्रयास संस्था (मुरली श्याम, अभय कुमार, सुजंती द्विवेदी, एबीवी सहाय), अनन्या इंफोटेक (आशीष कुमार, अलोजा खुर्द इचाक हजारीबाग), विराट टेलीकॉम ( टुनटुन कुमार मेहता, बरवाइचाक हजारीबाग), चतरा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ( मो. शहाबुद्दीन, वादी इरफान लाइन रोड, चतरा) सूरज अग्रवाल (जिंदल पॉवर लिमिटेड बालकुदरा पतरातू), रूपा देवी (पति आशीष कुमार, अलीजा खुर्द हजारीबाग), आशीष कुमार (पुत्र अर्जुन प्रसाद मेहता अलीजा खुर्द हजारीबाग), मिथलेश मिश्रा (पुत्र महेंद्र मिश्रा, चतरा), सुनीता देवी (पति इंद्रदेव प्रसाद नाजिर, तिलैया, हजारीबाग), चंदा प्रसाद ( पुत्र इंद्रदेव प्रसाद नाजिर), तारा प्रसाद (पुत्री इंददेव प्रसाद नाजिर) पृथ्वी प्रसाद (पुत्र इंद्रदेव प्रसाद नाजिर), सूरज प्रसाद (पुत्र इंद्रदेव प्रसाद नाजिर), लक्ष्मी देवी (पति सूरज प्रसाद) आदि का नाम शामिल है।

इस घोटाले में चतरा के सदर थाना में कांड संख्या 165/18 दर्ज कराया गया था। वहीं चतरा पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर अपने साथ चतरा ले गयी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!