Global Statistics

All countries
261,265,655
Confirmed
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
234,249,183
Recovered
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
5,211,238
Deaths
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am

Global Statistics

All countries
261,265,655
Confirmed
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
234,249,183
Recovered
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
5,211,238
Deaths
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
spot_imgspot_img

Dumka: 1.42 करोड़ गबन मामले में कार्रवाई शुरू, लेखापाल समेत दो गए जेल

ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल विभाग दुमका कार्य प्रमंडल में कंस्ट्रक्शन कंपनी को 1.42 करोड़ की गड़बड़ी मामले में नगर थाना पुलिस ने दो को गिरफ्तार कर बुधवार को जेल भेज दिया है।

Dumka: ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल विभाग दुमका कार्य प्रमंडल में कंस्ट्रक्शन कंपनी को 1.42 करोड़ की गड़बड़ी मामले में नगर थाना पुलिस ने दो को गिरफ्तार कर बुधवार को जेल भेज दिया है। गिरफ्तार आरोपी विभाग के लेखपाल पंकज कुमार वर्मा और कम्प्यूटर ऑपरेटर पवन कुमार गुप्ता है।

जानकारी के अनुसार जिले के रामगढ़ प्रखंड में बांसलोई नदी पर करीब 10 करोड रुपये की लागत से एक उच्चस्तरीय पुल का निर्माण एबीसी कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा कराया जा रहा है।

पुल का निर्माण कार्य ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल विभाग के दुमका कार्य प्रमंडल के अधीन किया जा रहा है। एबीसी कंस्ट्रक्शन कंपनी को करीब डेढ़ करोड़ रूपये का भुगतान विभाग द्वारा कोषागार दुमका के माध्यम से किया जाना था।

बीते 28 अक्टूबर को कोषागार के माध्यम से भुगतान भी 1, 42,20, 20,590 रुपये किया गया। लेकिन राशि की कंपनी के एकाउंट में स्थानांतरण नहीं होकर किसी अन्य एकाउंट में हो गया। भुगतान की राशि नहीं मिलने पर संवेदी कंपनी जब ग्रामीण विकास विभाग को फोन कर जानकारी आठ नवम्बर को किया। तब जाकर पैसे स्थानांतरण किए एकांउट की जानकारी मिली।

खंगालने पर पता चला है कि यह राशि एबीसी कंस्ट्रक्शन कंपनी के खाते में नहीं कर हरियाणा के गुरुग्राम स्थित किसी दुसरे खाते में आनलाइन ट्रांसफर हो गया है। इस पर दूसरे खाते में इतनी बड़ी राशि स्थानांतरण हुई, उस खाते से राशि की निकासी भी हो गई है।

मामले को लेकर विभागीय लेखपाल पंकज वर्मा के लिखित शिकायत पर मामला दर्ज हुआ। दर्ज मामले में पुलिस जांच में जुट गई। जांच के दौरान संदेह के आधार पर लेखपाल समेत चार से लगातार कई दिन पूछताछ की गई। नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, जहां करीब 10 दिन बाद पुलिस ने रात के अंधेरे में जेल भेज दिया।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!