spot_img

MP निशिकांत दुबे ने देवघर AIIMS के OPD का उद्घाटन स्थगित कराया: JMM

गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे पर आरोप लगाया कि वह वर्चुअली नहीं बल्कि फिजिकली तौर पर शामिल होना चाहते थे। इस वजह से कार्यक्रम को स्थगित करने का काम किया है।

रांची: झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) ने कहा कि गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने देवघर एम्स की ओपीडी उद्घाटन स्थगित कराया है। झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता में  गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे पर आरोप लगाया कि वह वर्चुअली नहीं बल्कि फिजिकली तौर पर शामिल होना चाहते थे। इस वजह से कार्यक्रम को स्थगित करने का काम किया है।

प्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि संथालपरगना क्षेत्र में 2013 में एम्स की स्थापना स्वीकृति दी गयी थी। उस वक्त यूपीए-2 की सरकार थी इसका निर्माण कार्य 2016 के बाद शुरू हुआ था और अब बन कर तैयार हो गया है।

सभी को मालूम है कि एम्स भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की एक स्वायत्त संस्था है, जिसके सर्वोपरि निदेशक होते हैं

झारखंड के देवघर में रेगुलर निदेशक न होने के कारण वहां एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिल कर एम्स के उद्घाटन और एमबीबीएस सेकेंड बैच और आश्रय गृह के उद्घाटन की स्वीकृति मांगी थी।

उसके बाद मुख्यमंत्री ने अपनी स्वीकृति के साथ कहा था कि तारीख आप तय करें, राज्य सरकार तैयार है।

हालांकि मुख्यमंत्री ने कहा था कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए किसी भी तरह के समारोह आयोजित करने पर प्रतिबंध लगा है।

ऐसे में मुख्यमंत्री सोरेन के सचिव ने 18 जून को भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव को पत्र लिखा था।

पत्र में उन्होंने कहा था कि इस कार्यक्रम को 26 जुलाई को वर्चुअली किया जा सकता है। उसके बाद भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव ने इस पर 22 जून को स्वीकृति दी थी। सारे कार्यक्रम तय कर दिये गये थे।

वर्चुअल मोडपर होनेवाले इस कार्यक्रम को यहां से मुख्यमंत्री, नयी दिल्ली से स्वास्थ्य मंत्री और उस क्षेत्र के सांसद विधायक और झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी का उपस्थित होना था।

लेकिन गुरुवार शाम को अचानक एक चिट्ठी भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से आतीहै कि 26 तारीख का कार्यक्रम अपरिहार्य कारण से टाल दिया गया है।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि अब तक किसी भी कार्यक्रम को हटाने का कार्यक्रम निदेशक द्वाराकिया जाता था, लेकिन देवघर एम्स के उद्घाटन समारोह को हटाने वाला पत्र निदेशक ने नहीं आर्थिक सलाहकार ने भेजा था, जिनका नाम है, निरंकुश शरण यानी आर्थिक सलाहकार द्वारा निदेशक को रिप्लेस करके कार्यक्रम को स्थगित करने की घोषणा की गयी है।

सुप्रियो ने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा है कि राज्य सरकार ने कार्यक्रम के आयोजन में असमर्थता जतायी इसलिए उद्घाटन टला। इसमें सच्चाई नहीं। जब देवघर AIIMS की OPD के उद्घाटन को टालने के लिए उनकी ओर से दबाव बनाया गया तो उसके बाद प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के संरक्षण में कार्यक्रम स्थगित किया गया।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!