spot_img

WHO ने ओमीक्रोन को लेकर दी चेतावनी, बढ़ सकता है मरने वालों का आंकड़ा

डब्ल्यूएचओ बूस्टर के खिलाफ नहीं है। हम असमानता के खिलाफ हैं और हमारी मुख्य चिंता है कि हर जगह लोगों की जान बचाई जा सके।

Geneva: महानिदेशक (WHO Chief) टेड्रोस ए ग्रैबियस ने कहा कि ओमीक्रोन वैरिएंट कोरोना का सबसे तेज संक्रमण फैलाने वाला वैरियंट है। इसके अलावा ग्रैबियस ने बूस्टर अभियान को लेकर भी बहुत कुछ कहा है।

टेड्रोस ने कहा कि अब तक 77 देशों ने कोरोना के ओमीक्रोन वैरिएंट फैलने की सूचना दी है। ओमीक्रोन जिस तेजी से फैल रहा है, वैसी तेजी हमने पिछले किसी वैरियंट के साथ नहीं देखी। उन्होंने कहा कि ओमीक्रॉन के आने के बाद कुछ देशों ने अपनी पूरी वयस्क आबादी के लिए कोविड-19 बूस्टर प्रोग्राम शुरू किए हैं, जबकि हमारे पास इस वैरियंट के खिलाफ बूस्टर की प्रभावशीलता के प्रमाणों की कमी है।

ट्रेडोस ने कहा कि डब्ल्यूएचओ को इस बात की चिंता है कि इस तरह के बूस्टर प्रोग्राम वैक्सीन जमाखोरी को दोहराएंगे, जो हम इस साल पहले भी देख चुके हैं। उन्होंने कहा कि इससे असमानता को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि डब्ल्यूएचओ बूस्टर के खिलाफ नहीं है। हम असमानता के खिलाफ हैं और हमारी मुख्य चिंता है कि हर जगह लोगों की जान बचाई जा सके।

स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि ओमीक्रोन संक्रमण के मामले पूरी दुनिया में बढ़े हैं, ऐसे में हमें उम्मीद है कि अस्पताल में भर्ती होने के मामलों और यहां तक कि इस संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो सकती है।

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, अभी ओमीक्रोन को पूरी तरह से समझने के लिए और जानकारियों की आवश्यकता है। हम देशों को अस्पताल में भर्ती किए जाने वाले मरीजों के डाटा को हमारे कोविड-19 क्लिनिकल डाटा प्लेटफॉर्म पर साझा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। इससे हमें इसे समझने में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!