Global Statistics

All countries
240,231,299
Confirmed
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
215,802,873
Recovered
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
4,893,546
Deaths
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am

Global Statistics

All countries
240,231,299
Confirmed
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
215,802,873
Recovered
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
All countries
4,893,546
Deaths
Updated on Friday, 15 October 2021, 12:52:53 am IST 12:52 am
spot_imgspot_img

केरल में तीन जून को मानसून देगा दस्तक :आईएमडी

अगले पांच दिनों में पूर्वोत्तर राज्यों में व्यापक रूप से बारिश होने के आसार हैं, जिसमें असम और मेघालय में अगले पांच दिनों के दौरान अतिवृष्टि हो सकती है। अगले तीन दिनों के दौरान अरूणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी भारी बारिश होने का अनुमान है।

नयी दिल्ली

मौसम विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार को दोहराया कि दक्षिण पश्चिम मानसून केरल में तीन जून को दस्तक देगा और अब इसमें किसी तरह की कोई देरी नहीं होगी।

मौसम संबंधी ताजा आंकडों के मुताबिक दक्षिण-पश्चिमी हवाएं काफी तेज हो चुकी हैं, जिसके परिणामस्वरूप केरल में बारिश होने का पूरा अनुमान है। इसलिए केरल में मानसून की शुरुआत तीन जून के आसपास से होने का अनुमान जताया गया है।

मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि निचले स्तर की दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के उग्र होने के कारण अगले पांच दिनों में पूर्वोत्तर राज्यों में व्यापक रूप से बारिश होने के आसार हैं, जिसमें असम और मेघालय में अगले पांच दिनों के दौरान अतिवृष्टि हो सकती है। अगले तीन दिनों के दौरान अरूणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी भारी बारिश होने का अनुमान है।

राष्ट्रीय मौसम ब्यूरो ने कहा कि मध्य और ऊपरी विक्षोभमंडल में कम दवाब बनने से पश्चिमी विक्षोभ 30 डिग्री उत्तरी अक्षांश, 76 डिग्री पूर्वी देशांतर के साथ औसत समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर केन्द्रित है।

उत्तर अरब सागर से उत्तर पश्चिमी भारत के मैदानी इलाकों में निचले स्तर पर नमी बन रही है और अगले तीन-चार दिनों तक इसके जारी रहने का अनुमान है तथा इस प्रभाव से सबसे अधिक संभावना है कि अगले तीन दिनों के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और उत्तर-पश्चिम भारत के आसपास के मैदानी इलाकों में अलग-अलग स्थानों पर बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ सकते है लेकिन इससे अधिकतम तापमान में कोई खास परिवर्तन नहीं होगा।

आंतरिक तमिलनाडु तट पर पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर समुद्र तल से 3.1 और 4.5 किमी के बीच चक्रवाती परिसंचरण और यह अगले चार दिनों के दौरान इस क्षेत्र में इर्दगिर्द रहने का अनुमान है। जबकि दक्षिण-पश्चिमी हवाएं भी अगले दो और तीन दिनों के दौरान तेजी से चलने के आसार हैं।( Agency )

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!