spot_img

बाबाधाम का प्रसाद पेड़ा जल्द पहुंचेगा देश और विदेश के श्रद्धालुओं तक

बाबा बैद्यनाथ धाम का प्रसाद पेड़ा (Prasad Peda of Baba Baidyanath Dham) जल्द ही देश और विदेश के श्रद्धालुओं तक पहुंचेगा। साथ ही प्रसाद चावल के भी निर्यात को लेकर तैयारी की जा रही है।

Deoghar: बाबा बैद्यनाथ धाम का प्रसाद पेड़ा (Prasad Peda of Baba Baidyanath Dham) जल्द ही देश और विदेश के श्रद्धालुओं तक पहुंचेगा। साथ ही प्रसाद चावल के भी निर्यात को लेकर तैयारी की जा रही है।

देवघर डीसी (Deoghar DC) मंजुनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में पेड़ा व्यवसाय को बढ़ावा देने के अलावा देश-विदेश के विभिन्न हिस्सों से बाबाधाम के पेड़ा की आपूर्ति एवं जीआई टैगिंग (GI Tagging) को लेकर किये जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार में किया गया।

बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर जिलान्तर्गत संचालित सभी उद्योगों को विश्वपटल पर लाने एवं निर्यात को बढ़ावा देने के दिशा में समिति द्वारा कार्य किया जाय, ताकि जिले एवं राज्य का नाम के साथ-साथ इन उद्योगों से जुड़े हुए लोगो को भी आर्थिक रूप से सुदृढ़ और सशक्त किया जा सके। 

इसके अलावे बैठक के दौरान रिजनल इंचार्ज एपीईडीए कोलकाता संदीप साहा ने पेड़ा निर्यात को लेकर की जाने वाले विभिन्न कार्यों की रूपरेखा से सभी को अवगत कराया। साथ ही बैठक में उपस्थित पेड़ा उद्योग, चावल उद्योग एवं संथाल परगना चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों ने अपने-अपने सुझावों को उपायुक्त समक्ष रखा।

इस दौरान डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने पेड़ा उद्योग का जियो टैगिंग से जोड़ने के चल रहे कार्यों की जानकारियों से अवगत हुए, ताकि इसकी सुगमता उपलब्ध्ता आसानी से हो सके और बाबाधाम के प्रसाद पेड़ा को सही तरीके से प्रचारित और प्रसारित किया जा सके।

आगे बैठक के दौरान उपायुक्त ने देवघर के प्रसाद पेड़ा को देश विदेश तक पहुंचाने के कार्यों को लेकर किये गये विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्यात, पैकेजिंग, सामानों की डिलिवरी व गुणवत्ता को लेकर किये जाने वाले कार्यों को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। साथ ही लंबे समय तक सामानों की गुणवता बनी रहे इसको लेकर किये जाने वाले पैकेजिंग के लिए उपायुक्त ने एपीईडीए के अधिकारियों को आवश्यक सहयोग करने की बात कही, ताकि इस कार्य योजना को जल्द से जल्द धरातल पर उतारा जा सके।

आगे चावल निर्यात को लेकर विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा की गयी, ताकि आने वाले समय में जिले से चावल का निर्यात विदेशों तक किया जा सके। बैठक के दौरान उपायुक्त ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को एपीईडीए के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए इस दिशा में कार्य करने का निदेश दिया, ताकि तय समयानुसार कार्यों को पूर्ण किया जा सके।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!