spot_img
spot_img

कारोबारी हो जाएँ सावधान!: Unknown नंबर से Call कर Cyber ठग बना रहे शिकार, इस बार जाल में फंसा सीमेंट व्यापारी और टीचर

Deoghar: देवघर जिले में अलग-अलग प्रोफेशन में कार्य कर रहे लोगों के लिए बेहद जरूरी खबर है। इस खबर को पढ़ आपको सतर्क होने की जरूरत है। क्योंकि साइबर ठगों (Cyber) ने अब आपके प्रोफाइल को छान लिया है। और आपसे सामान भेजने को कह बड़े आसानी से पेमेंट के नाम पर आपको ही ठगने का काम कर रहे हैं। खासकर व्यापारी वर्ग को सतर्क रहना है।

जिले में दो साइबर ठगी का मामला सामने आया है। जिसमें साइबर ठगों ने एक लाख 60 हजार की ठगी कर ली है। पहली ठगी बाइपास रोड सोरेन पेट्रोल पंप के पास के रहने वाले प्रशांत कुमार वर्णवाल से हुई है। जहां साइबर ठगों ने 61 हजार की ठगी कर ली है। प्रशांत कुमार वर्णवाल एक कंपनी के सीमेंट की एजेंसी चलाने का कार्य करता है। उसके मोबाइल पर दो अलग-अलग अंजान नंबर से कॉल आया और कहा गया कि उसे 100 बोरा सीमेंट की जरूरत है। सीमेंट को लोड कर भेज दीजिये। कुछ देर बाद दूबारा कॉल आया कि आप अपना क्यू आर कोड भेजिये रूपया ऑनलाइन पेंमेंट करते है। प्रशांत ने क्यू आर कोड भेज दिया। ठग ने प्रशांत से क्यूआर का पिन कोड भी ले लिया और अमाउंट लिखकर भेजने को कहा। जिसके बाद एक के बाद एक कर तीन बार में 60 हजार 998 रूपये की ठगी कर ली गयी।

स्कूल में पढ़ाने के नाम पर ठगी

दूसरा मामला राजाबगीचा निवासी पंकज कुमार प्रभाकर के साथ हुआ। जिनके मोबाइल पर एक कॉल आया और खुद को आर्मी मैन बताया। कॉल करने वाले ने कहा कि उसके स्कूल में बच्चे को पढ़ाई कराना है। फिस की बावत उससे जानकारी ली। कॉल करने वाले के झांसे में प्रशांत आ गया। ठग ने पंकज से पहले क्यू आर कोड मांगा। पहले एक रूपया भेजने को कहा, जिसे ठग ने भेज दिया। फिर बीस हजार भेजा, उसके बाद 40 हजार भेजा। उसके बाद कॉल करने वाले ने कहा कि आप 40 हजार भेजिये उसके बाद पुरा रूपया वापस लौट जायेगा। पंकज के एक क्लिक करते ही ठग का रूपया वापस भी लौटा और खाता से एक लाख रूपये की अवैध निकासी भी हो गयी। 

बता दें कि इससे पहले देवघर के बाजला चौक स्थित कजरिया टाइल्स में भी ठगों ने कॉल कर एयरपोर्ट पर टाइल्स भेजने के नाम पर हजारों की ठगी कर ली थी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!