spot_img

पढ़ाई के लिए सड़क पर लड़ाई: Pakur में शिक्षकों की मनमानी के खिलाफ सड़क पर उतरे बच्चे

Pakur: जिले के महेशपुर प्लस टू उच्च विद्यालय के शिक्षकों की मनमानी तथा विद्यालय में पठन-पाठन ठप होने के खिलाफ वर्ग एक से सात तक के सभी छात्र-छात्राओं ने शुक्रवार को जमकर हंगामा किया। साथ ही नियमित पठन पाठन करवाने की मांग करते हुए सड़क पर जाम लगाकर धरना दिया।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के संयोजक राहुल मिश्रा व अन्य कार्यकर्ताओं ने भी इन विद्यार्थियों का समर्थन किया। वर्ग सात की छात्रा रुखसाना खातून, प्रेम कुमार, कक्षा छह के छात्र अंकित यादव, गौरी कुमारी, रिया कुमारी, अन्नू कुमारी एवं कक्षा पांच की छात्रा अनुष्का कुमारी आदि ने कहा कि वे सभी प्रतिदिन पढ़ने के लिए विद्यालय आते हैं लेकिन न तो शिक्षक हमारे वर्गों में आते हैं न पढ़ाते हैं।

शिक्षक निजी काम में ज्यादा व्यस्त

विद्यार्थियों ने कहा कि शिक्षक निजी काम में ही ज्यादा व्यस्त रहते हैं। उनसे पढ़ाने का आग्रह करने पर डांट-फटकार लगाई जाती है। विद्यार्थियों ने कहा कि पिछले दो दिनों से पढ़ाई ठप है। अधिकांश शिक्षक तो समय पर आते ही नहीं हैं। उस पर भी जब मर्जी हमें छुट्टी दे दी जाती है।

उधर, हेडमास्टर कांति शर्मा ने कहा कि विद्यालय में शिक्षक तो हैं लेकिन वे कक्षा एक से सात तक के छात्र-छात्राओं को पढ़ाना नहीं चाहते हैं। इस वजह से बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। सूचना मिलने के एक घंटा बाद बीआरपी-सीआरपी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बच्चों को समझा-बुझा कर जाम हटवाया।

इस बावत प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी मिलन कुमार घोष ने बताया कि बीआरसी कार्यालय में मूल्यांकन कार्य होने के कारण कुछ शिक्षक बीआरसी में हैं। शेष शिक्षक विद्यालय में मौजूद हैं। पठन-पाठन की व्यवस्था सुचारु रखने की जिम्मेदारी हेडमास्टर को करनी चाहिए। पढ़ाई के लिए बच्चे सड़क पर उतरें यह दुर्भाग्यपूर्ण है। साथ ही कहा कि संबंधित शिक्षकों के खिलाफ जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!