spot_img

Jharkhand: 17 वर्षीय किशोर की हत्या पर उबाल, राज्य सरकार ने दिया इंसाफ का आश्वासन

हजारीबाग जिले के बरही में रूपेश पांडेय नामक 17 वर्षीय किशोर की पीट-पीटकर हत्या के खिलाफ झारखंड के कई इलाकों में रोष प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। वारदात के बाद कई जगहों पर तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए पुलिस-प्रशासन अलर्ट मोड में है।

Ranchi: हजारीबाग जिले के बरही में रूपेश पांडेय नामक 17 वर्षीय किशोर की पीट-पीटकर हत्या के खिलाफ झारखंड के कई इलाकों में रोष प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। वारदात के बाद कई जगहों पर तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए पुलिस-प्रशासन अलर्ट मोड में है। बरही, हजारीबाग, रामगढ़, चतरा, गिरिडीह सहित कई जिलों में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है। बरही में भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की गयी है। प्रशासन ने चेताया है कि जो लोग घटना को लेकर सोशल मीडिया पर भड़काने वाला पोस्ट कर रहे हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। बता दें कि रूपेश की हत्या विगत 6 फरवरी को हुई थी। वह सरस्वती पूजा विसर्जन जुलूस में शामिल होने गया था, तभी बरही के दुलमाहा गांव के पास कुछ लोग उसे खींचकर अपने साथ ले गये थे और उसके बाद उसे पीट-पीट कर मार डाला था।

इधर घटना पर सियासी बयानबाजियां भी हो रही हैं। पिछले तीन-चार दिनों से अलग-अलग राजनीतिक दलों के नेताओं ने बरही पहुंचकर रूपेश के परिजनों से मुलाकात की है। भारतीय जनता पार्टी सहित कई संगठनों ने जहां इसे मॉब लिंचिंग की वारदात बताते हुए आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है, वहीं झामुमो, कांग्रेस और राजद ने हत्या की निंदा करते हुए कहा है कि राज्य सरकार ने इस मामले पर संज्ञान लिया है। रूपेश की हत्या के मामले में स्पीडी ट्रायल करवाकर दोषियों को सजा दिलायी जायेगी।

सोमवार को झारखंड सरकार के तीन मंत्रियों मिथिलेश ठाकुर, सत्यानंद भोक्ता, बादल पत्रलेख के अलावा विधायक उमाशंकर अकेला, अंबा प्रसाद और सुदिव्य कुमार सोनू ने बरही पहुंचकर रूपेश के परिजनों से मुलाकात की और उन्हें इंसाफ का भरोसा दिलाया। तीनों मंत्रियों ने अपने विवेकाधीन कोटे से रूपेश के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की भी घोषणा की है। मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि इस हत्याकांड के पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मुख्यमंत्री ने स्वयं मामले की जानकारी ली है और प्रशासन को निर्देश दिया है कि वारदात के पीछे जो भी लोग हैं, उनपर सख्त कार्रवाई हो।

इसके पहले शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की अगुवाई में भाजपा के एक दल ने भी मृतक के स्वजनों से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा कि हम रूपेश के परिवार के साथ खड़े हैं। अगर न्याय नहीं मिला तो पूरे राज्य में आंदोलन होगा। रांची के भाजपा सांसद संजय सेठ ने इसे मॉबलिंचिंग की वारदात बताते हुए राज्य सरकार पर निशाना साधा। दिल्ली के पूर्व विधायक और भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया है कि वे 16 फरवरी को झारखंड जायेंगे। रूपेश के परिवार को कमजोर और अकेला नहीं पड़ने देंगे। न्याय सुनिश्चित करना ही होगा। इस बीच बॉलीवुड के फिल्म निर्माता मनीष मुंद्रा ने रूपेश के परिजनों के सहायतार्थ पांच लाख रुपये दिये हैं।

इस बीच हजारीबाग के डीसी आदित्य कुमार आनंद और एसपी मनोज रतन चोथे ने कहा है कि मामले को लेकर कुछ लोग सामाजिक सौहाद्र्र बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हें चिन्हित कर सख्त कार्रवाई की जायेगी। पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। रूपेश के परिजनों ने इस मामले में कुछ 23 लोगों को नामजद किया है। हजारीबाग पुलिस ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है।(IANS)

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!