spot_img
spot_img

Deoghar: एक मोहरा…साज़िश के तीन शैतान और क़त्ल की ख़ौफनाक वारदात…पैसा बनी मौत की वजह।

जिसने भी उस 14 वर्षीय नाबालिग के शव को तीन टुकड़ों में देखा उसका कलेजा मुंह को आ गया और महज़ चंद पैसों की ख़ातिर हैवानों ने जिस हैवानियत को अंजाम दिया उसकी प्लानिग सुनकर हर कोई हैरान रह गया।

Budget 23-24 में नहीं चमका सोना

Deoghar/Jasidih: कहते हैं हर रिश्ते से अनोखा होता है दोस्ती का रिश्ता, लेकिन देवघर के टॉप कॉप्स में शुमार जासीडीह के SHO ने दोस्ती की पीठ पर घोंपे गए मौत के खंज़र को बरामद कर एक ऐसे सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा किया है. जिसकी कहानी जिस किसी ने भी सुनी वही सन्न रह गया. जिसने भी उस 14 वर्षीय नाबालिग के शव को तीन टुकड़ों में देखा उसका कलेजा मुंह को आ गया और महज़ चंद पैसों की ख़ातिर हैवानों ने जिस हैवानियत को अंजाम दिया उसकी प्लानिग सुनकर हर कोई हैरान रह गया।

इससे पहले की, आपके ज़हन में इस हत्याकांड को लेकर सवालों का तूफ़ान सब्र का बांध तोड़े हम आपको बताते हैं साज़िश की गुत्थी में उलझी कत्ल की कहानी के पीछे का एक एक सच।

दरअसल, जासीडीह थाना इलाके में रोहिणी स्थित रेलवे क्रोसिंग के समीप रहने वाला नाबालिग मृतक काफ़ी सम्पन्न परिवार से ताल्लुक रखता था और यही बात उसके आरोपी दोस्तों को अक्सर नागवार गुजरती थी लिहाजा, अपने धनवान दोस्त के परिजनों से पैसे ऐंठने के लिए मृतक के दो दोस्तों ने रची एक ऐसी साज़िश जिसने पूरे इलाके में कोहराम मचा दिया। 

पुलिस की मानें तो, वारदात वाले रोज़ तय साज़िश के तहत एक आरोपी ने मृतक को घर से बाहर बुलाया और पलँगा पहाड़ी की तरफ निकल गया, इस बीच रास्ते मे दूसरा आरोपी भी कुछ और दोस्तों के साथ मिला और सभी उस सुनसान बियावान जगह पर पहुंच गया जहां उन्हें अपने मंसूबों को अंजाम देना था।

हत्या में इस्तेमाल हथियार

अब वक़्त था जल्दी से अपना काम पूरा कर पैसों की डिमांड करने का लिहाज़ा, तू-तू, मैं-मैं से शुरू हुई तकरार देखते ही देखते रार में तब्दील हो गई और पहले से साथ लाए आला ए कत्ल से एक आरोपी ने मृतक के सर को धड़ से अलग कर दिया, कातिलों के सर पर क़त्ल का ऐसा जुनून सवार था कि, उसने बेरहमी और हैवानियत की सारी हदें लांघ दी और एक ही वार में मौत की नींद सो चुके नाबालिग मृतक के बेजान जिस्म को तीन टुकड़ों में बांटकर बोरे में भर दिया।

इतना ही नहीं अपने मंसूबों को अंजाम तक पहुंचाने की खातिर कातिलों ने प्लान के तहत मृतक के घरवालों को फ़ोन कर उनके बेटे के अगवा कर लिए जाने की सूचना दी और फ़िरौती की शक्ल में 5 लाख रुपये की मांग की।

लेकिन, अपने घरवालों ने कातिलों की धमकी की परवाह न कर इस इस बात से बेखबर की, उनके घर का चिराग़ हमेशा के लिए बुझ चुका है, फौरन इस बात की इत्तला जासीडीह थाना इंचार्ज को की और फ़िर शुरू हुई शुरुआती कार्रवाई में ही पुलिस के हाथ सुराग की एक ऐसी डोर लगी जिसके सहारे कत्ल के पीछे की तमाम उलझी गुत्थी खुद ब खुद सुलझने लगी।

मामले का महज 24 घँटे के भीतर खुलासा कर दिया गया और कत्ल में इस्तेमाल आला ए कत्ल समेत खाकी के नुमाइंदों ने एक बालिग और एक नाबालिग आरोपियों को धर दबोचा।

अब पुलिस गिरफ़्तार दोनो कातिलों को कानून की चौखट पर पेश करेगी, जहां उनके किए की मुक्कमल सज़ा तय होगी लेकिन, इस बीच सभ्य समाज के बीच पनप रही ऐसी सोच और आजम दी गई करतूत ने कई सवाल भी खड़े कर दिए हैं।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!