Global Statistics

All countries
245,604,630
Confirmed
Updated on Wednesday, 27 October 2021, 11:55:31 pm IST 11:55 pm
All countries
220,886,667
Recovered
Updated on Wednesday, 27 October 2021, 11:55:31 pm IST 11:55 pm
All countries
4,984,325
Deaths
Updated on Wednesday, 27 October 2021, 11:55:31 pm IST 11:55 pm

Global Statistics

All countries
245,604,630
Confirmed
Updated on Wednesday, 27 October 2021, 11:55:31 pm IST 11:55 pm
All countries
220,886,667
Recovered
Updated on Wednesday, 27 October 2021, 11:55:31 pm IST 11:55 pm
All countries
4,984,325
Deaths
Updated on Wednesday, 27 October 2021, 11:55:31 pm IST 11:55 pm
spot_imgspot_img

रांची Police ने गरीब छात्राओं को पढ़ाई के लिए मोबाइल फोन दिए

कांके रोड स्थित पुलिस लाइन में गुरुवार को गरीब छात्र-छात्राओं की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए रांची पुलिस ने छह छात्राओं के बीच मोबाइल फोन का वितरण किया।

रांची: कांके रोड स्थित पुलिस लाइन में गुरुवार को गरीब छात्र-छात्राओं की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए रांची पुलिस ने छह छात्राओं के बीच मोबाइल फोन का वितरण किया।

ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने छह छात्राओं के बीच स्मार्ट फोन का वितरण किया। ग्रामीण एसपी ने कहा है कि इस प्रकार की व्यवस्था से बहुत सारे गरीब बच्चों को ऑनलाइन क्लास करने में मदद मिलेगी। आगे भी गठित टीम के द्वारा इसी प्रकार निम्न वर्ग के मेधावी छात्रों को मोबाइल वितरण किया जाएगा।

पुलिस केंद्र रांची में झारखंड पुलिस मोबाइल फोन बैंक द्वारा मोबाइल बैंक में कुल 30 मोबाइल जमा है। जिसमें से गठित कमेटी के द्वारा रांची जिला के विभिन्न स्कूलों से चयनित आर्थिक रूप से असमर्थ उपस्थित छह मेधावी छात्राओं को मोबाइल वितरण किया गया।

इनमें खुशबू कुमारी – उर्सलाईन इन्टर कालेज, जूही कुमारी – राजकीय बालिका उच्च विद्यालय बरियातू, विधि कुमारी – महर्षि निखिलेश पब्लिक स्कूल पिठोरिया, तानिया कुमारी – योगदा सत्संग कॉलेज,मानवी कुमारी महर्षि निखिलेश पब्लिक उच्च विद्यालय पिठौरिया और जया कुमारी महर्षि निखिलेश पब्लिक स्कूल पिठोरिया शामिल हैं।

कार्यक्रम में पुलिस केंद्र रांची से मेजर-1 ,2 , पुलिस एसोसिएशन के कर्मी एवं अन्य पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे ।

उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी में स्कूल और शैक्षिणिक संस्थान बंद हैं और इस बीच जो भी पठन-पाठन का काम है उसे ऑनलाइन तरीके से किया जा रहा है। ऐसे में छात्र अपने मोबाइल और लैपटॉप पर ही पढ़ाई- लिखाई कर रहे हैं। लेकिन कई छात्र-छात्राएं ऐसे हैं जिनकी आर्थिक हालात खराब है जिस कारण उनकी पढ़ाई बाधित हो रही है। इसे देखते हुए झारखंड के डीजीपी नीरज सिन्हा ने एक सार्थक पहल की है और थानों में उपकरण बैंक खोलने का निर्णय लिया है, जिसके जरिए वैसे बच्चों की मदद की जा सके।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!