spot_img

अब UGC उपलब्ध कराएगा रोजगार से जुड़े 9 डिग्री पाठ्यक्रम

नई शिक्षा नीति (New Education Policy) लागू करने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी UGC कई नए पाठ्यक्रमों (New Cources) उपलब्ध करा रहा है।

New Delhi: नई शिक्षा नीति (New Education Policy) लागू करने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी UGC कई नए पाठ्यक्रमों (New Cources) उपलब्ध करा रहा है। इस क्रम में यूजीसी ने बैचलर ऑफ स्पोर्ट्स मैनेजमेंट, मास्टर्स ऑफ स्पोर्ट्स मैनेजमेंट, बैचलर ऑफ स्पोर्ट्स साइंस, मास्टर्स ऑफ स्पोर्ट्स साइंस, आर्किटेक्चर, इंजीनियरिंग, डिजाइनिंग, टेक्नोलॉजी आदि क्षेत्रों में कुल 9 डिग्री कार्यक्रम छात्रों के लिए उपलब्ध कराएं हैं। अब देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों पर इन पाठ्यक्रमों को उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी है। यूजीसी के सचिव प्रोफेसर रजनीश जैन ने इस संबंध में बकायदा सभी केंद्रीय व अन्य विश्वविद्यालयों को पत्र लिखा है। इस पत्र में यूजीसी के सचिव ने केंद्रीय विश्वविद्यालयों से कहा है कि आगामी शैक्षणिक सत्र से यह सभी पाठ्यक्रम लागू किए जाएं।

दरअसल, यूजीसी का कहना है कि इंडस्ट्री में इन सभी पाठ्यक्रमों की मांग है। रोजगार परक पाठ्यक्रम होने के नाते यह डिग्री कार्यक्रम छात्रों को मुहैया कराए जाने चाहिए।

वहीं जामिया मिलिया इस्लामिया का सेंटर फॉर इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप, एक ऐसा ऑनलाइन कोर्स लेकर आया है जो स्कूल ड्रॉपआउट को अगले स्तर की व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने में सक्षम है। विश्वविद्यालय का कहना है कि वह इन छात्रों के लिए एक ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग कोर्स शुरू करने जा रहा है।

जामिया विश्वविद्यालय के मुताबिक, स्कूल ड्रॉपआउट के साथ-साथ यह कोर्स अन्य सभी प्रोफेशनल्स, जॉब सीकर्स और विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए भी उपलब्ध होगा।

डिजिटल मार्केटिंग अब बिजनेस का एक अभिन्न अंग बन चुका है, चाहे वह बड़ा हो या छोटा, और इससे भी अधिक ग्लोबल इकॉनमी ई-कॉमर्स की ओर बढ़ रही है और इंटरनेट हमारे दैनिक जीवन के लगभग हर पहलू में पैठ बना चुका है। इसी को देखते हुए जामिया विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों ने यह कोर्स डिजाइन किया है।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस कोर्स की मुख्य विशेषताएं, डिजिटल मार्केटिंग ओवरव्यू, लीड जेनरेशन, सर्च इंजन ओप्टीमाईजेशन, ब्लॉगिंग एंड कंटेंट मार्केटिंग, ऑनलाइन एड्स एंड ऐडवर्डस, सोशल मीडिया मार्केटिंग, यूट्यूब एंड ऐडसेंस, गूगल एंड वेब एनालिटिक्स और ईमेल मार्केटिंग हैं।

विश्वविद्यालय ने स्पष्ट तौर पर यह भी बताया है कि एक कोर्स में कौन शामिल हो सकता है। इस विशेष कोर्स में सभी प्रोफेशनल्स, एंट्रेप्रेंयुअर्स, विश्वविद्यालय के छात्र, जॉब सीकर्स और स्कूल ड्रॉपआउट छात्र शामिल हो सकते हैं। इस कोर्स की अवधि 3 महीने की है और यह केवल ऑनलाइन मोड में ही उपलब्ध होगा। शाम के समय इस कोर्स की कक्षाएं ली जाएंगी। इस कोर्स के लिए 5000 रुपये फीस तय की गई है।

छात्रों को प्लेसमेंट सहायता प्रदान करने के लिए सीआईई ने नौकरी ग्रुप वेंचर ‘जॉब है’ के साथ एक करार भी किया है। जामिया विश्वविद्यालय के मुताबिक, ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग कोर्स का पंजीकरण 26 मार्च, 2022 से शुरू होगा और कक्षाएं 15 अप्रैल, 2022 से शुरू होंगी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!