spot_img

UP News: प्रधानमंत्री मोदी मंगलवार को कानपुर मेट्रो का करेंगे लोकार्पण

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) उत्तर प्रदेश के औद्योगिक नगरी कानपुर (Kanpur) को अब तक का सबसे बड़ा और नायाब तोहफा देने जा रहे हैं।

Lucknow: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) उत्तर प्रदेश के औद्योगिक नगरी कानपुर (Kanpur) को अब तक का सबसे बड़ा और नायाब तोहफा देने जा रहे हैं। मंगलवार (28 दिसंबर) को कानपुर आ रहे मोदी शहर के लोगों को सुलभ और स्मार्ट परिवहन की सुविधा देंगे। गंगा नदी के किनारे बसे इस महानगर में मेट्रो रेल परियोजना (Metro Rail Project) के पूर्ण खंड का प्रधानमंत्री उद्घाटन करेंगे। आईआईटी कानपुर से मोती झील तक नौ किलोमीटर लंबे खंड का निरीक्षण करने के साथ-साथ मेट्रो ट्रेन से सफर भी करेंगे। इस मौके पर मुख्यंमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी के शहरों को सुपरफास्ट परिवहन सेवा देने की सोच के अनुसार अब कानपुर महानगर भी तेज गति से दौड़ेगा। इससे प्रदेश के विकास को गति मिलेगी। शहर के लोगों को सुलभ, प्रदूषणमुक्त सफर की सुविधा मिलेगी। औद्योगिक गतिविधियां भी तेजी से बढ़ेंगी। शहरों में गतिशीलता में सुधार करने के साथ-साथ शहरी जनजीवन को और अधिक स्मार्ट बनाने पर हमेशा से फोकस करते चले आए प्रधानमंत्री मोदी के प्रयास कानपुर शहर में लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव लाएंगे। कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के आईआईटी कानपुर से मोती झील तक नौ किलोमीटर लंबे खंड का प्रधानमंत्री मोदी निरीक्षण करेंगे और आईआईटी मेट्रो स्टेशन से गीता नगर तक मेट्रो की सवारी करेंगे। कानपुर में मेट्रो रेल परियोजना की पूरी लंबाई 32 किलोमीटर है और इसे 11 हजार करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया जा रहा है।

1500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाये गये बीना-पनकी मल्टीप्रोडक्ट पाइपलाइन परियोजना का भी प्रधानमंत्री मोदी उद्घाटन करेंगे। 356 किलोमीटर लंबी इस परियोजना की क्षमता लगभग 3.45 मिलियन मीट्रिक टन प्रति वर्ष है। मध्य प्रदेश की बीना रिफाइनरी से लेकर कानपुर के पनकी तक फैली इस परियोजना क्षेत्र में बीना रिफाइनरी से पेट्रोलियम उत्पादों को पहुंचाने में मदद करेगी।

मंगलवार को कानपुर प्रवास के दौरान प्रधानमंत्री मोदी आईआईटी कानपुर के 54वें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे। इस दौरान वे सभी छात्रों को पहली बार राष्ट्रीय ब्लॉकचेन परियोजना के तहत संस्थान में विकसित की गई डिजिटल डिग्रियां प्रदान करेंगे। इन डिजिटल डिग्रियों की खासियत यह है कि यह विश्व स्तर पर सत्यापित की जा सकेंगी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!