spot_img

Online gaming में छोटे बच्चे ने खरीद लिए साढ़े सात लाख के हथियार

ऑनलाइन गेम (Online game) में प्रयुक्त होने वाले हथियारों को खरीदने में बच्चे ने साढ़े सात लाख रुपए खर्च कर दिया। सुनकर आपको अजीब लग रहा होगा। पर यह है एकदम सही। एक महिला ने शिकायत की थी कि उसके अकाउंट से किसी ने रुपए उड़ा लिए हैं। लेकिन जब उसे पता चला कि घर के बच्चे ने ही जब ऑनलाइन रुपए खर्च कर दिए तो उसके पैरों तले जमीन ही खिसक गई।

झांसी: ऑनलाइन गेम (Online game) में प्रयुक्त होने वाले हथियारों को खरीदने में बच्चे ने साढ़े सात लाख रुपए खर्च कर दिया। सुनकर आपको अजीब लग रहा होगा। पर यह है एकदम सही। एक महिला ने शिकायत की थी कि उसके अकाउंट से किसी ने रुपए उड़ा लिए हैं। लेकिन जब उसे पता चला कि घर के बच्चे ने ही जब ऑनलाइन रुपए खर्च कर दिए तो उसके पैरों तले जमीन ही खिसक गई।

हुआ यूं कि थाना नवाबाद क्षेत्र निवासी एक बच्चे ने ऑनलाइन गेमिंग के दौरान प्रयुक्त होने वाले हथियार करीब साढ़े 7 लाख रुपये खरीद लिए। इतना ही नहीं करीब एक लाख रुपये के ऑनलाइन 5जी मोबाइल भी खरीदा। खाता खाली होने के बाद घर वालों को किसी अनहोही की आशंका हुई। इस पर उन्होंने साइबर थाने में शिकायत की। बाद में पड़ताल के दौरान जो सच आया जानकर परिजन हैरत में आ गए।

नवाबाद थाना क्षेत्र निवासी हेमा ने शिकायत की थी कि उसके अकाउंट से किसी ने फ्राॅड करके 7.55 लाख उड़ा दिए। जांच में फ्रोड नहीं मिला। गहराई से जांच हुई तो ज्ञात हुआ कि छोटे से भतीजे ने इस तरह का कारनामा किया। उसने ऑनलाइन फ्री फायर गेम खेलते-खेलते साढ़े सात लाख रुपये के हथियार के साथ एक 5जी का मोबाइल खरीद लिया। साइबर थाना पुलिस की तहकीकात में उजागर हुआ भतीजे ने एक नहीं दर्जनों गेम के हथियार खरीदकर अपनी पर्सनल आईडी भी बना ली और बुआ के पैसे उड़ा दिए।

मोबाइल की लत से बच्चों को रखें दूर

एसपी सिटी विवेक सिंह ने बताया कि मामला घरेलू होने और किसी प्रकार का फ्राॅड न होने के चलते दर्ज नहीं किया गया है। हालांकि उन्होंने समाज के लोगों को आगाह किया कि आजकल बच्चों में ऑनलाइन गेमिंग की लत बढ़ रही है। इस पर नियंत्रण जरुरी है। उन्होंने यह भी कहा कि वैसे भी चिकित्सकों की सलाह के अनुसार बच्चों द्वारा मोबाइल एकाध घंटे ही प्रयोग किया जाना चाहिए। इससे अधिक उपयोग पर मस्तिष्क और आंखों पर बुरा प्रभाव डालता है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!