Global Statistics

All countries
265,475,773
Confirmed
Updated on Saturday, 4 December 2021, 10:18:47 pm IST 10:18 pm
All countries
237,047,722
Recovered
Updated on Saturday, 4 December 2021, 10:18:47 pm IST 10:18 pm
All countries
5,262,300
Deaths
Updated on Saturday, 4 December 2021, 10:18:47 pm IST 10:18 pm

Global Statistics

All countries
265,475,773
Confirmed
Updated on Saturday, 4 December 2021, 10:18:47 pm IST 10:18 pm
All countries
237,047,722
Recovered
Updated on Saturday, 4 December 2021, 10:18:47 pm IST 10:18 pm
All countries
5,262,300
Deaths
Updated on Saturday, 4 December 2021, 10:18:47 pm IST 10:18 pm
spot_imgspot_img

Tokyo Olympic खत्म: ये हैं भारत के स्टार खिलाड़ी

आठ अगस्त को टोक्यो ओलंपिक का समापन हो गया। Tokyo Olympic में भारत ने एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदकों के साथ अब तक के ओलंपिक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

नई दिल्लीः आठ अगस्त को टोक्यो ओलंपिक का समापन हो गया। Tokyo Olympic में भारत ने एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदकों के साथ अब तक के ओलंपिक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

भारत ने टोक्यो में एथलेटिक्स (स्वर्ण), वेटलिफ़्टिंग (रजत), कुश्ती (एक रजत, एक कांस्य), हॉकी (कांस्य), बैडमिंटन (कांस्य) और बॉक्सिंग (कांस्य) में पदक हासिल किए।

भारतीय टीम ने 13 साल बाद ओलंपिक में स्वर्ण पदक का सूनापन ख़त्म किया। टोक्यो में नीरज चोपड़ा ने भारत को स्वर्ण पदक दिलाया। उन्होंने 87.58 मीटर जैबलिन थ्रो (भाला फेंक) के साथ भारत की झोली में यह स्वर्ण पदक डाला। नीरज चोपड़ा पहली बार ओलंपिक खेलों में भाग ले रहे थे। उनसे पहले 2008 के बीजिंग ओलंपिक में 10 मीटर एयर राइफ़ल के व्यक्तिगत स्पर्धा में अभिनव बिंद्रा गोल्ड जीतकर भारत के एकमात्र स्वर्ण पदक विजेता थे।

  • टोक्यो ओलंपिक में भारत के पदकों का खाता पहले दिन ही मीराबाई चानू ने रजत पदक के साथ खोल दिया था। उन्होंने भारोत्तोलन के 49 किलोवर्ग में कुल 202 किलो (87 किलो + 115 किलो) भार उठा कर भारत के लिए इस प्रतिस्पर्धा में 21 साल बाद ओलंपिक पदक हासिल किया।
  • महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने टोक्यो में भारत को दूसरा पदक दिलाया। टोक्यो में कांस्य पदक जीतकर वे (पहली महिला) दूसरी ऐसे खिलाड़ी बन गईं, जिन्होंने व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा में दो ओलंपिक पदक हासिल किए हैं।
  • स्टार बॉक्सर लवलीना बोरगोहाईं ने टोक्यो ओलंपिक में यादगार प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया। भारत को 9 साल के बाद ओलंपिक बॉक्सिंग में पदक हासिल हुआ। असम के गोलाघाट ज़िले की लवलीना बॉक्सिंग में ओलंपिक पदक हासिल करने वाली तीसरी भारतीय खिलाड़ी हैं।
  • भारत को टोक्यो ओलंपिक में दूसरा रजत पदक रवि दहिया ने दिलाया। रवि कुमार दहिया ओलंपिक में रजत पदक हासिल करने वाले दूसरे पहलवान हैं।

आठ बार के ओलंपिक चैंपियन भारतीय हॉकी टीम के लिए टोक्यो ओलंपिक बड़ी सफलता लेकर आया। भारतीय टीम लंबे अरसे के बाद ओलंपिक हॉकी के सेमीफ़ाइनल में पहुंची और वर्ल्ड नंबर-1 और टोक्यो में चैंपियन बनी बेल्जियम को कड़ी टक्कर देने के बाद हारी। लेकिन जब मुक़ाबला कांस्य पदक के लिए हुआ तो भारतीय टीम ने अपनी रफ़्तार से जर्मनी जैसी मज़बूत टीम को मात दी।

कांस्य पदक जीतने के साथ ही भारत का 41 सालों से ओलंपिक हॉकी में पदक का सूनापन ख़त्म हुआ। अब ओलंपिक हॉकी में भारत के आठ स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदकों समेत 12 मेडल हो गए हैं।

  • भारत की महिला हॉकी टीम ने भी टोक्यो में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। भारतीय महिला हॉकी टीम पहली बार ओलंपिक खेलों के सेमीफ़ाइनल में पहुंची। हालांकि भारतीय टीम पदक जीतने से चूक गई और चौथे स्थान पर रही लेकिन महिला हॉकी के प्रदर्शन की देश विदेश में बहुत सराहना की गई।
  • नीरज चोपड़ा की तरह ही बजरंग पूनिया का यह पहला ओलंपिक था और वे 65 किलोवर्ग फ़्री स्टाइल कुश्ती के सेमीफ़ाइनल में भले ही हार गए लेकिन कांस्य पदक के मुक़ाबले में उन्होंने कज़ाख़स्तान के दौलेत नियाज़बेकोव को कोई मौक़ा नहीं दिया और 8-0 से हराकर उन्होंने पदक हासिल किया।

इसे भी पढ़ें:

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!