Global Statistics

All countries
264,620,385
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 6:10:15 pm IST 6:10 pm
All countries
236,877,653
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 6:10:15 pm IST 6:10 pm
All countries
5,253,410
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 6:10:15 pm IST 6:10 pm

Global Statistics

All countries
264,620,385
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 6:10:15 pm IST 6:10 pm
All countries
236,877,653
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 6:10:15 pm IST 6:10 pm
All countries
5,253,410
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 6:10:15 pm IST 6:10 pm
spot_imgspot_img

ऑटो चालक की हड़ताल रही असरदार, यात्री परेशान

रिपोर्ट:बिपिन कुमार 

धनबाद : 

पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत सोमवार से ऑटो चालक अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए है. रोजाना जगह-जगह पर ऑटो चालको से की जा रही अवैध वसूली, निगम द्वारा जहाँ भी पार्किंग की गई है उस बंदोबस्ती को रद्द करने सहित बढ़ते डीजल के मूल्य वृद्धि के मद्देनजर ऑटो का किराया निर्धारण करने की मांग को लेकर चालको ने हड़ताल शुरू किया है.

कमाई से ज्यादा वसूली हो रही: 

चालको का साफ तौर पर कहना है कि ऑटो चालक पहले से ही अवैध वसूली का दंश झेल रहे है. अब निगम द्वारा कई जगहों पर पार्किंग बंदोबस्ती कर दिए जाने से रोजाना कमाई का डेढ़ से दो सौ रुपये इन्ही सब चीजो में जा रहा है.गरीब तबके से आने वाले चालकों की कमाई इतनी भी नहीं है कि पार्किंग के साथ-साथ रंगदारो की झोली भर सके. चालक अपनी मांग पर अड़े है. मांग पूरी होने तक अपना आंदोलन जारी रखने की घोषणा की है.

हड़ताल में कौन-कौन शामिल थे: 

इस हड़ताल का झारखण्ड परिवहन मजदूर यूनियन, धनबाद जिला ऑटो महासंघ, ऑल इंडिया रोड ट्रांसपोर्ट वर्क्स फेडरेशन के अलावे अन्य संगठनों ने भी समर्थन किया है. चालको के हड़ताल पर चले जाने को विधायक राज सिन्हा ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

अवैध वसूली बंद हो :

विधायक ने कहा कि रंगदारो द्वारा वसूली किये जाने का जो आरोप चालको ने लगाया है उसके खिलाफ पहले भी आंदोलन हुए है. निश्चित रूप से अवैध वसूली बंद होनी चाहिए. वाहन पड़ाव को लेकर जो भी मांग है उसके लिए नगर आयुक्त को चालको के प्रतिनिधियों के साथ वार्ता करनी चाहिए. दूसरी तरफ कई ऐसे चालक भी है जो जहाँ तहाँ नो पार्किंग में भी गाड़िया खड़ी कर सवारी बैठाने और उतारने का काम करते है. यही नहीं कई चालक ऑटो को तेज गति से भी चलाते है जो हादसे का भी कारण बनती है. इस परस्थिति से निपटने के लिए चालको के संघीय पदाधिकारियो को खुद भी संज्ञान लेना चाहिए. इस तरह की समस्याएं दूर होंगी तो निश्चित तौर पर जाम की समस्या दूर होगी.

हड़ताल का व्यापक असर दिखने को मिला: 

 इधर इस हड़ताल का व्यापक असर यात्रियो पर पड़ा. ऑटो नहीं चलने से यात्रियों को अपने गंतव्य के लिए पैदल ही सफर करना पड़ा. श्रमिक चौक, स्टेशन बैंक मोड़ में घण्टो यात्री ऑटो का इंतेजार करते नजर आये. अधिकांश चालको ने हड़ताल का समर्थन किया. सड़कों पर इक्के दुक्के ही ऑटो नजर आये.

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!