spot_img

Jharkhand के बुलबुल जंगल में छिपे नक्सलियों की अब खैर नहीं

झारखंड में नक्सलियों के सफाए के लिए सुरक्षाबलों ने जबरदस्त अभियान चला रखा है। राज्य के लोहरदगा जिले के नक्सल प्रभावित पेशरार थाना क्षेत्र के बुलबुल जंगल में सुरक्षाबलों के जवान नक्सलियों के मांद में घुसकर उनके ठिकानों को नेस्तनाबूद कर रहे हैं।

Ranchi/Lohardaga: झारखंड में नक्सलियों के सफाए के लिए सुरक्षाबलों ने जबरदस्त अभियान चला रखा है। राज्य के लोहरदगा जिले के नक्सल प्रभावित पेशरार थाना क्षेत्र के बुलबुल जंगल में सुरक्षाबलों के जवान नक्सलियों के मांद में घुसकर उनके ठिकानों को नेस्तनाबूद कर रहे हैं। इस कार्रवाई में जवानों के साथ नक्सलियों की आए दिन मुठभेड़ भी हो रही है।

हालांकि, इस अभियान में नक्सलियों के बिछाए लैंड माइन्स से जवानों को चोटें भी पहुंच रही हैं। तीन दिनों में नक्सलियों के बिछाए लैंड माइंस विस्फोट में तीन जवान घायल हुए हैं। फिर भी जवानों का हौसला जहां बुलंद है, वहीं नक्सली पस्त होते जा रहे हैं।

तीन दिनों में हुई नक्सली घटनाएं

13 फरवरी को लोहरदगा जिले के उग्रवाद प्रभावित पेशरार थाना क्षेत्र के बुलबुल जंगल के पास नक्सलियों के साथ सुरक्षा बलों की मुठभेड़ हुई। दोनों तरफ से करीब आधे घंटे तक रुक-रुक कर गोलियां चलीं। मुठभेड़ स्थल बुलबुल नाला बताया जा रहा है।

मुठभेड़ के बाद चलाए जा रहे सर्च अभियान में सुरक्षा बलों को नक्सलियों के कुछ हथियार, कारतूस और नक्सली पिट्ठू भी बरामद हुए हैं। फिलहाल, सुरक्षा बल जमीन ऑपरेशन चलाने के साथ इलाके में हेलिकॉप्टर से निगरानी कर रहे हैं। पिछले 96 घंटे से लगातार सुरक्षा बलों की अलग-अलग टुकड़ियां इलाके में सर्च अभियान चला रही हैं। इसमें नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच तीन बार मुठभेड़ हो चुकी है।

12 फरवरी को पेशरार थाना क्षेत्र के बुलबुल जंगल में पुलिस टीम द्वारा चलाए जा रहे अभियान के क्रम एक सीआरपीएफ कोबरा बटालियन का जवान तोमिन कुमार आइइडी ब्लास्ट में घायल हो गया। घटना के बाद उसे वायुसेना के हेलीकॉप्टर से रांची लाया गया। इसके बाद खेलगांव में बने हेलीपैड पर जवान को उतारा गया। वहां से मेडिका के एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया।

घायल जवान का नाम तोमिन कुमार बताया गया। जवान का इलाज डा अंकुर सौरभ और डा कुमार विशाल के देखरेख में चल रहा है। आइइडी ब्लास्ट की चपेट में जवान का बांया पैर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। जवान के दाहिने पैर में चोटे आयी है। इलाज कर रहे डाक्टर ने बताया कि उसका इलाज चल रहा है। वह गंभीर हैं। घायल जवान तोमिन कुमार छत्तीसगढ़ का रहने वाला है।

11 फरवरी को लोहरदगा जिले के पेशरार थाना क्षेत्र अंतर्गत बुलबुल जंगल में नक्सल विरोधी अभियान के दौरान आइइडी ब्लास्ट में सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गये। घायल दोनों जवानों दिलीप कुमार (29) और नारायण दास (38) को प्राथमिक उपचार के बाद हेलीकॉप्टर से रांची के खेलगांव लाया गया। इसके बाद मेडिका हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

जवान दिलीप कुमार का इलाज डॉक्टर अंकुर और डॉक्टर कुमार विशाल की देखरेख में चल रहा है। दिलीप का दाहिना पैर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। नारायण दास का इलाज मेजर रमेश दास की देखरेख में किया जा रहा है। उनके चेहरे, बाया कंधे और छाती में चोट लगी है। बताया गया कि अभियान के दौरान माओवादियों का कैंप भी ध्वस्त किया गया है।

11 फरवरी को ही लोहरदगा जिले के पेशरार थाना क्षेत्र के सहेदापाट के जंगल में पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। हालांकि, इस दौरान नक्सली भागने में सफल हो गए। पुलिस ने इन्हें तीन तरफ से घेर लिया था लेकिन एक तरफ मौका देखकर सभी नक्सली फरार हो गए।

इस संबंध में झारखंड के डीजीपी नीरज सिन्हा (Jharkhand DGP Neeraj Sinha) ने बताया कि सर्च अभियान से नक्सलियों का मनोबल गिर रहा है। डीजीपी ने कहा कि नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!