Global Statistics

All countries
339,783,572
Confirmed
Updated on Thursday, 20 January 2022, 5:23:59 pm IST 5:23 pm
All countries
271,096,815
Recovered
Updated on Thursday, 20 January 2022, 5:23:59 pm IST 5:23 pm
All countries
5,585,576
Deaths
Updated on Thursday, 20 January 2022, 5:23:59 pm IST 5:23 pm

Global Statistics

All countries
339,783,572
Confirmed
Updated on Thursday, 20 January 2022, 5:23:59 pm IST 5:23 pm
All countries
271,096,815
Recovered
Updated on Thursday, 20 January 2022, 5:23:59 pm IST 5:23 pm
All countries
5,585,576
Deaths
Updated on Thursday, 20 January 2022, 5:23:59 pm IST 5:23 pm
spot_imgspot_img

PM Modi का बड़ा ऐलान 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के बच्चों को लगेगी वैक्सीन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि 15-18 के बच्चों को तीन जनवरी 2022 से कोरोना वैक्सीन दिया जायेगा.

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि 15-18 के बच्चों को तीन जनवरी 2022 से कोरोना वैक्सीन दिया जायेगा. साथ ही हेल्थ वर्कर्स को 10 जनवरी से वैक्सीन का Precaution Dose दिया जायेगा. साथ ही 60 साल से अधिक के लोगों को भी उनके डॉक्टर के सलाह पर Precaution Dose10 जनवरी से दिया जायेगा.

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना से लड़ने का सबसे बड़ा हथियार है कोरोना के प्रोटोकॉल्स का पूरी तरह से पालन किया जाए. दूसरा हथियार है वैक्सीनेशन. उन्होंने कहा कि देश ने बहुत पहले ही वैक्सीन निर्माण पर काम कर दिया था. हमारे तैयारियों का ही नतीजा रहा है कि भारत ने इस साल 16 जनवरी से वैक्सीन देना शुरू कर दिया. यह देश के नागरिकों का सामूहिक प्रयास और इच्छा शक्ति है कि भारत 141 करोड़ वैक्सीनेशन लक्ष्य को पार कर चुका है. आज भारत की 60 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन की डोज लग चुकी है। नब्बे प्रतिशत व्यस्क आबादी को एक डोज लगाया जा सका है.

PM मोदी ने कहा कि वैक्सीनेशन के मामले में टूरिज्म वाले राज्यों ने शत प्रतिशत वैक्सीनेशन का सिंगल डोज पा लिया है। उन्होंने कहा कि हम जल्द ही नेजल वैक्सीन और डीएनए वैक्सीन की शुरूआत करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई हम शुरू से ही वैज्ञानिक सिद्धांतों से लड़ रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जो निर्णय किया गया है वह कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को तो मजबूत करेगा ही बच्चों को स्कूल भेजना भी सुरक्षित हो जायेगा. आप सब नये साल के स्वागत में जुटे हैं लेकिन सभी को सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि देश पर ओमिक्राॅन का खतरा है. लेकिन यह भी एक सच्चाई है कि किसी को पैनिक होने की जरूरत नहीं है.

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!