spot_img

अमेरिका में तबाही मचाने के बाद कनाडा पहुंचा चक्रवात, लाखों घर अंधेरे में

अमेरिका के इतिहास में आए सबसे लंबे चक्रवात से भारी नुकसान के बाद चक्रवात कनाडा पहुंच गया है। ओंटारियो प्रांत के उत्तरी, मध्य एवं पूर्वी क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई और 2.80 लाख घर-प्रतिष्ठान अंधेरे में डूब गए।

Otava/Washington: अमेरिका के इतिहास में आए सबसे लंबे चक्रवात से भारी नुकसान के बाद चक्रवात कनाडा पहुंच गया है। ओंटारियो प्रांत के उत्तरी, मध्य एवं पूर्वी क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई और 2.80 लाख घर-प्रतिष्ठान अंधेरे में डूब गए।

प्रांत के करीब 14 लाख लोगों को बिजली आपूर्ति करने वाली कंपनी हाइड्रो वन का कहना है कि कुछ और इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित हो सकती है। पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन विभाग ने बताया कि तूफान की रफ्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटे रही।

चक्रवात से अमेरिका के केंटुकी प्रांत में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। वहां 100 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका है। मेफील्ड में मोमबत्ती फैक्टरी पूरी तरह ध्वस्त हो गई, जबकि थानों को भी काफी नुकसान पहुंचा। पड़ोसी मिसौरी में एक नर्सिगहोम ध्वस्त हो गया, जबकि इलिनोइस स्थित अमेजन के वेयरहाउस के छह कर्मचारी मारे गए। गवर्नर एंडी बेशियर ने कहा कि राज्य के इतिहास में चक्रवात के कारण इतनी बर्बादी कभी नहीं हुई।

अर्कसास, मिसिसिप्पी, इलिनोइस, केंटुकी, टेनेसी व मिसौरी प्रांतों में कुछ ही अंतराल पर 30 चक्रवात गुजरे। इसने केंटुकी के 350 किलोमीटर से ज्यादा बड़े इलाके को नुकसान पहुंचाया। इसे अमेरिकी इतिहास का सबसे लंबा चक्रवात माना जा रहा है।

राष्ट्रपति जो बाइडन ने केंटुकी में आपदा की घोषणा पर मुहर लगाते हुए शनिवार को कहा कि यह देश के इतिहास के भीषण चक्रवातों में से एक है। वह पर्यावरण संरक्षण एजेंसी से यह पता लगाने को कहेंगे कि इतना भीषण चक्रवात आया कैसे। उन्होंने चक्रवात चेतावनी प्रणाली पर भी सवाल उठाए।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!