spot_img
spot_img

अंकिता भंडारी को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर आज उत्तराखंड बंद का ऐलान

निधि राजदान ने NDTV छोड़ा

Dehradun: अंकिता हत्याकांड के आरोपियों को फांसी की सजा दिलाये जाने की मांग को लेकर रविवार को विभिन्न संगठनों द्वारा उत्तराखंड बंद का आह्वान किया गया है। कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने भी इस बंद का समर्थन किया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून दलीप सिंह कुंवर ने शहरवासियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है।

उत्तराखंड के पौड़ी जिले में जघन्य अंकिता हत्याकांड के बाद से लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है। हत्याकांड की जांच में देरी और आरोपियों को बचाने के आरोप विभिन्न संगठनों ने पुलिस व सरकार पर लगाए हैं। राजधानी देहरादून में कानून और शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए जिले को एसएसपी ने 9 सुपर जोन, 21 जोन और 43 सेक्टरों में विभाजित किया है। जिससे कि इस बंद के दौरान कोई अप्रिय घटना न घटे। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि इस दौरान जो कोई हिंसात्मक गतिविधियों में शामिल होगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

राज्यभर के तमाम जन संगठनों, व्यापार संघों ने रविवार को उत्तराखंड बंद का ऐलान किया है। विभिन्न राजनीतिक दलों समेत कांग्रेस पार्टी ने भी उत्तराखंड बंद का समर्थन किया है। पार्टी ने जिला एवं महानगर कांग्रेस कमेटियों से बंद का पूर्णरूप से समर्थन करते हुए अपनी सहभागिता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उपाध्यक्ष संगठन मथुरा दत्त जोशी एवं महामंत्री प्रशासन विजय सारस्वत ने संयुक्त बयान जारी कर कहा कि पार्टी लगातार केंद्र व राज्य सरकार से अंकिता हत्याकांड की जांच सीबीआई से करवाने का अनुरोध कर रही है। लेकिन, सरकार के कान में जूं तक नही रेंग रही है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!