spot_img

ढाई वर्षों में एक इंच भी नहीं हुआ सड़क निर्माण,आक्रोशित ग्रामीणों ने जमकर की नारेबाजी

विज्ञापन:-

 त्रिदेव


By:राकेश यादव

बेगूसराय/बिहार। 

सुदुर देहात क्षेत्रों को शहरी क्षेत्रों से जोड़ने के उद्देश्य से बिहार सरकार ने महत्त्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री ग्राम संम्पर्क योजना लागू की थी। लेकिन निर्माण एजेंसियों के रवैए के कारण सरकार की कार्यशैली भी बदनाम होती जा रही है।

बताते चलें कि बछवाड़ा प्रखंड के रूदौली पंचायत में भरौल चौक से पुराना स्थान ढाला तक लगभग तीन किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण कार्य अगस्त 2018 में ही प्रारंभ किया गया था। सरकार ने लागत राशि एक करोड़ एकत्तीस लाख रूपए के आवंटन के साथ निर्माण कार्य का जिम्मा सोना इन्फ्राकाॅन प्रा० लि० नामक एजेंसी को सौंपा। साथ ही निर्माण एजेंसी नें जनवरी 2020 तक कार्य को समाप्त करने का एकरारनामा किया। निर्माण एजेंसी नें विभिन्न साधनों व मशीनरी के साथ-साथ निर्माण में उपयोग होने वाले मेटेरियल स्टाॅक किया गया। गांव में अचानक इतने सारे लाव-लश्कर इकट्ठा होते देख स्थानीय लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। गांव के लोगों नें विभिन्न प्रकार के वाहन खरिदारी के साथ रोजी-रोजगार के द्वार खुलने के सपने देखने लगे। मगर कुछ ही दिनों बाद स्थानीय लोगों के सारे भ्रम दुर हो गये, साथ हीं लोगों के सपने भी चकनाचूर हो गये।

विज्ञापन:-

   astrologer                                                                                                                                  

स्टाक स्थल पर मेटेरियल जस की तस

सड़क निर्माण कार्य प्रगति का आलम यह है कि स्टाक स्थल पर मेटेरियल जस की तस पड़ी है। महज़ एक इंच भी सड़क निर्माण कार्य नहीं हो सका है। निर्माण एजेंसी के इस रवैए से छुब्ध ग्रामीणों नें मोर्चा खोल दिया है। बुधवार को भरौल गांव के चौराहे पर आक्रोशित लोगों नें इकट्ठा होकर जमकर अपने गुस्से का इजहार किया। इस क्रम में आक्रोशित ग्रामीणों नें बिहार सरकार व निर्माण एजेंसी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीण बारंबार निर्माण एजेंसी को ब्लैकलिस्ट कर शीध्र निर्माण कार्य कराने की मांग कर रहे थे।  


विज्ञापन:-

नमन

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!