Global Statistics

All countries
196,647,618
Confirmed
Updated on Thursday, 29 July 2021, 7:31:40 am IST 7:31 am
All countries
176,357,806
Recovered
Updated on Thursday, 29 July 2021, 7:31:40 am IST 7:31 am
All countries
4,202,786
Deaths
Updated on Thursday, 29 July 2021, 7:31:40 am IST 7:31 am

Global Statistics

All countries
196,647,618
Confirmed
Updated on Thursday, 29 July 2021, 7:31:40 am IST 7:31 am
All countries
176,357,806
Recovered
Updated on Thursday, 29 July 2021, 7:31:40 am IST 7:31 am
All countries
4,202,786
Deaths
Updated on Thursday, 29 July 2021, 7:31:40 am IST 7:31 am
spot_imgspot_img

लीजेंड स्प्रिंटर मिल्खा सिंह का 91 साल की उम्र में कोरोना से निधन, 5 दिन पहले ही पत्नी को खोया था

मिल्खा सिंह और उनकी पत्नी 20 मई को कोरोना संक्रमित पाए गए थे। 24 मई को दोनों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

चंडीगढ़: पूर्व भारतीय लीजेंड स्प्रिंटर मिल्खा सिंह का कोरोना की वजह से शुक्रवार रात 11:30 बजे निधन हो गया है। वे 91 साल के थे। 5 दिन पहले उनकी पत्नी निर्मल कौर का पोस्ट कोविड कॉम्प्लिकेशंस के कारण निधन हो गया था।

मिल्खा सिंह का चंडीगढ़ के PGIMER में 15 दिनों से इलाज चल रहा था। उन्हें 3 जून को ऑक्सीजन लेवल गिरने के कारण ICU में भर्ती कराया गया था। 20 मई को उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

पीएम ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने मिल्खा को श्रद्धांजलि दी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने एक शानदार खिलाड़ी खो दिया। मिल्खा ने असंख्य भारतीयों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई थी। मिल्खा के व्यक्तित्व ने उन्हें लाखों लोगों का चहेता बना दिया। उनके निधन से दुखी हूं।

20 मई को पाए गए थे संक्रमित

मिल्खा सिंह और उनकी पत्नी 20 मई को कोरोना संक्रमित पाए गए थे। 24 मई को दोनों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 30 मई को परिवार के लोगों के आग्रह पर उनकी वहां से छुट्टी करवा ली गई थी और कुछ दिनों पहले ही वे घर लौटे थे। तब से उनका घर पर ही इलाज चल रहा था। इसके कुछ दिन बाद उनकी तबीयत फिर खराब हुई और ऑक्सीजन लेवल गिरने लगा था। 3 जून को उन्हें फिर से अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। वहीं, निर्मल कौर का इलाज मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में चल रहा था। निर्मल कौर का पोस्ट कोविड कॉम्प्लिकेशंस के कारण निधन हो गया था। वे 85 साल की थीं।

भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया

मिल्खा सिंह 4 बार के एशियन गेम्स गोल्ड मेडलिस्ट रह चुके। मिल्खा ने 1958 कॉमनवेल्थ गेम्स में ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में भारत के लिए पहला गोल्ड जीता था। अगले 56 साल तक यह रिकॉर्ड कोई नहीं तोड़ सका।  उनकी सफलता को देखते हुए, भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया। मिल्खा सिंह के जीवन पर साल 2013 में बॉलीवुड हिंदी फिल्म- भाग मिल्खा भाग बनी थी।

पाकिस्तान में हुआ था जन्म

20 नवंबर 1929 को गोविंदपुरा (जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है) के एक सिख परिवार में मिल्खा सिंह का जन्म हुआ था। खेल और देश से बहुत लगाव था, इस वजह से विभाजन के बाद भारत भाग आए और भारतीय सेना में शामिल हो गए। कुछ वक्त सेना में रहे लेकिन खेल की तरफ झुकाव होने की वजह से उन्होंने क्रॉस कंट्री दौड़ में हिस्सा लिया। इसमें 400 से ज्यादा सैनिकों ने दौड़ लगाई। मिल्खा 6वें नंबर पर आए।

महिला वॉलीबॉल टीम की कप्तान रह चुकी थीं निर्मल:

निर्मल भारतीय महिला वॉलीबॉल टीम की कप्तान रह चुकी थीं। साथ ही वे पंजाब सरकार में स्पोर्ट्स डायरेक्टर (महिलाओं के लिए) के पद पर भी रही थीं।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!