spot_img

अगर लेह लद्दाख जाकर काम करना चाहते हैं श्रमिक, तो यहां कराएं पंजीकरण …

Deoghar Airport का रन-वे बेहतर: DGCA

https://i0.wp.com/n7india.com/wp-content/uploads/2021/05/6c02dc4ddb7e863c9bc3faa95bc85aad.jpg?w=696&ssl=1


देवघर।

देवघर जिला के मेहनतकश श्रमिक देश के विकास में अपना योगदान देने को सदैव तत्पर है। इसी कड़ी में देवघर जिला के विभिन्न प्रखंडों के श्रमिक जो लेह लद्दाख जाकर श्रम करना चाहते हैं वे देवघर के विभिन्न प्रखंडों में बने पंजीकरण डेस्क में जाकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। 

ये बातें उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी नैंसी सहाय ने मीडिया के साथ आयोजित प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि दुमका और देवघर से विशेष श्रमिक ट्रेन चलाई जाएगी।जिससे इच्छुक श्रमिक लेह लद्दाख के क्षेत्र में जाकर बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (BRO) के द्वारा किए जा रहे निर्माण कार्य में श्रमिक के रूप में कार्य कर सकते हैं। उपायुक्त नैंसी सहाय ने आगे कहा कि सभी प्रखंडों में श्रमिकों के निबंधन का कार्य आरंभ कर दिया गया है। कुशल, अकुशल, अर्धकुशल, अति कुशल सभी प्रकार के श्रमिक इसमें निबंधन करा सकते हैं। अलग-अलग श्रेणियों के लिए अलग-अलग मजदूरी निर्धारित है। यह न्यूनतम 16000 से लेकर 29000 रू तक अलग-अलग श्रेणियों के लिए निर्धारित है। वैसे श्रमिक जो कल विशेष ट्रेन से लेह लद्दाख जाना चाहते हैं, वे अपने अपने प्रखंडों में कल प्रातः 8:00 बजे तक पंजीकृत कराते हुए प्रखंड मुख्यालय में रिपोर्ट करें, उन्हें विशेष बस के माध्यम से दुमका ले जाया जाएगा। जहां से वे लेह लद्दाख के लिए विशेष श्रमिक ट्रेन से रवाना होंगे।

उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से यह संदेश सभी इच्छुक श्रमिकों तक पहुंचे और अधिक से अधिक इच्छुक श्रमिक पंजीकृत होकर विशेष ट्रेन से बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन द्वारा निर्माणाधीन कार्यों के लिए लेह लद्दाख रवाना हो सके।

परंपरागत रूप से संथाल परंगना के जिलों से श्रमिक जाते रहे हैं बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन के लिए लेह लद्दाख

डीसी ने कहा कि यह प्रथम बार नहीं है जब श्रमिक BRO के लिए काम करने को लेकर लेह लद्दाख जा रहे हैं, बल्कि परंपरागत रूप से संथाल परगना के जिलों से भारी संख्या में श्रमिक BRO के लिए काम करने लेह लद्दाख जाते रहे हैं।

अकुशल, अर्धकुशल, कुशल एवं अति कुशल के लिए अलग-अलग श्रेणी में श्रेणीबद्ध किए गए हैं श्रमिक

कुशल में जहां सभी प्रकार के अकुशल श्रमिक आते हैं वही अर्धकुशल में राजमिस्त्री, बढ़ई, बिजली मिस्त्री, पलंम्बर आदि आते हैं वही कुशल में राजमिस्त्री, बढ़ई, बिजली मिस्त्री, पलंबर के साथ-साथ ड्राइवर, स्नो कटर आदि आते हैं। अतिकुशल के अंतर्गत कंप्यूटर ऑपरेटर, मोटर ग्रेडर ऑपरेटर आदि आते हैं।


नमन

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!