spot_img
spot_img

दबंगो ने मचाया हंगामा, दलित दूल्हे को घोड़ी पर चढ़ने से रोका, पुलिस की सुरक्षा में निकाली बारात।

मध्यप्रदेश के नीमच जिले में गुरुवार को दलित दूल्हे को घोड़ी पर चढ़ने से पहले ही दबंगों ने बवाल मचा दिया। उसे मंदिर के सामने से निकलने से मना कर दिया। दबंगों से डरे परिवार ने पुलिस से सुरक्षा मांगी। पुलिस गांव पहुंची और दूल्हे को घोड़ी पर बैठाया।

Neemuch/Bhopal: मध्यप्रदेश के नीमच जिले में गुरुवार को दलित दूल्हे को घोड़ी पर चढ़ने से पहले ही दबंगों ने बवाल मचा दिया। उसे मंदिर के सामने से निकलने से मना कर दिया। दबंगों से डरे परिवार ने पुलिस से सुरक्षा मांगी। पुलिस गांव पहुंची और दूल्हे को घोड़ी पर बैठाया। डीजे की धुन पर धूम धड़ाके के साथ बारात की निकासी कराई। मामला नीमच जिले के मनासा नगर के समीपस्थ गांव सारसी का है।

गुरुवार को गांव सारसी में मेघवाल समाज के राहुल पुत्र फकीरचंद मेघवाल की शादी हो रही थी। वही, राहुल की बिंदौरी को लेकर मीणा समाज व मेघवाल समाज मे विवाद की स्थिति बन गई। मीणा समाज के लोगों का कहना था कि आप बिंदौली निकालो, लेकिन मंदिर के सामने दूल्हे को घोड़ी से उतरकर बिंदौली निकालनी होगी, क्योंकि मीणा समाज भी अपने चारभुजानाथ मंदिर के सामने वर्षों से दूल्हे को घोड़ी से उतारकर ही ही बिंदौली निकालता है। इस परम्परा का ध्यान रखना होगा।

इस पर युवक राहुल व उसके परिवार ने बारात निकालने के लिए पुलिस से सुरक्षा देने की मांग की थी। इस पर गांव में शादी से एक दिन पहले ही पुलिस को तैनात कर दिया गया था। गुरुवार को डीजे बजवाकर धूमधाम से दलित युवक की बारात निकाली गई। दलित युवक की बारात निकालने के लिए गांव में 100 से ज्यादा पुलिस के जवान तैनात किए थे। गांव में हर रूट पर जवान दिखे। आगे पुलिस जवान फ्लैग मार्च करते हुए तो बारात में बाराती डीजे की धुन पर नाचते-झूमते हुए चल रहे थे।

थाना प्रभारी कन्हैयालाल दांगी ने बताया कि ग्राम सारसी में बारात रोके जाने की आशंका को लेकर पुलिस और प्रशासन ने गांव में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। इसके बाद दलित दूल्हे की बारात धूमधाम से निकाली गई।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!