spot_img

…तो अब शहर में दहशत फैलाने की फैक्ट्री में तैयार हो रहे हैं 18, 20 और 23 साल तक के गुर्गे।

पुलिस ने बदमाशों के पास से 1 पिस्टल समेत 1 ज़िंदा कारतूस बरामद कर दो आर्म्स सप्लायर को भी जेल की चहारदीवारी के पीछे धकेलकर यह जता दिया है कि, देवघर की आब-ओ-हवा में खलल डालने वालों का मुफ़ीद मुकाम भी यही है।

Deoghar: वैसे तो बॉलीवुड की तमाम फिल्मों में बचपन के जख्म को जवानी के नासूर में तब्दील कर रुपहले पर्दे पर बखूबी फिल्माया गया है… लेकिन, मनोरंजन के मकसद से बनाई गई तीन घंटे के फिल्मी किरदार को अब कुछ युवा अपनी असल जिंदगी में उतार रहे हैं।

ऐसी ही कुछ तस्वीर जब देवघर के सदर SDPO ने खबरनवीशों की नज़रों के सामने लाया तो, बदमाशो की उम्र ने उनके बढ़ते कदम को भी साफ कर दिया…यूं तो, मामला ज़मीन विवाद में हवाई फायरिंग से जुड़ा था। लेकिन, रील लाइफ की दहशतगर्दी को रियल लाइफ में जीने की तमन्ना रखने वाले इन बदमाशों का मकसद भी डरावना था।

तस्वीर में दिख रहे इन तीनो बदमाशों की उम्र महज 18, 20 और 23 वर्ष की है। लेकिन, इरादे किसी शातिर और पेशेवर मुजरिम से कम नहीं। यह वो तीन बदमाश हैं जिन्होंने बीते शनिवार को एक ज़मीनी विवाद में गोलीबारी की वारदात को अंजाम देकर इलाके के तमाम आम रिहाइशियों के जहन में दहशत भर दी थी। लेकिन, खाकी के ख़िदमदगारों ने इनके मंसूबो पर पानी फेर दिया और पहुंचा दिया सलाखों के पीछे।

इतना ही नहीं पुलिस ने बदमाशों के पास से 1 पिस्टल समेत 1 ज़िंदा कारतूस बरामद कर दो आर्म्स सप्लायर को भी जेल की चहारदीवारी के पीछे धकेलकर यह जता दिया है कि, देवघर की आब-ओ-हवा में खलल डालने वालों का मुफ़ीद मुकाम भी यही है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!