spot_img
spot_img

Independence day : मुख्यमंत्री सोरेन ने किया ध्वजारोहण, गिनायीं सरकार की उपलब्धियां

राज्य सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए झारखंड राज्य का निर्माण के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए मजबूत और ईमानदार प्रयास करने का संकल्प लिया।

Ranchi: 76वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को राजधानी रांची के ऐतिहासिक मोरहाबादी मैदान पर ध्वजारोहण किया। इस मौके पर उन्होंने राज्य सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए झारखंड राज्य का निर्माण के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए मजबूत और ईमानदार प्रयास करने का संकल्प लिया।

सोमवार को मुख्यमंत्री सोरेन ने राष्ट्रीय ध्वजारोहण से पहले परेड का निरीक्षण किया। इस माैके पर मुख्यमंत्री ने राज्य की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि जिन उम्मीदों को लेकर झारखंड राज्य का निर्माण हुआ था, हम उसको पूरा करने के लिए मजबूत और ईमानदार प्रयास करेंगे। हमारी सरकार विकास मूल मंत्र, आधार लोकतंत्र के साथ एक सशक्त राज्य के निर्माण के लिए निरंतर प्रत्यनशील है।

सोरेन ने कहा कि राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण की रिपोर्ट के आधार पर झारखंड में शिशु मृत्यु दर, कुपोषण तथा महिलाओं एवं बच्चों में एनीमिया में काफी कमी आयी है। नौनिहालों और गर्भवती माताओं के लिए अब राज्य में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं और देखभाल सुनिश्चित हुआ है। झारखंड ने वन संरक्षण के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करते हुए वर्ष 2019 से वर्ष 2021 के बीच वन क्षेत्र में 110 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि दर्ज की है। राज्य में सड़क मार्ग, रेल मार्ग, वायुमार्ग और जल मार्ग का विस्तार हुआ है।

उन्होंने कहा कि झारखंड औद्योगिक एवं निवेश प्रोत्साहन नीति 2021 में उद्योगों पर ध्यान करना, पर्यटन में निवेश को बढ़ावा देने के लिए नई पर्यटन नीति 2021, नियुक्ति प्रक्रिया की दिशा में परीक्षा संचालन नियमावली का गठन, रिकॉर्ड 251 दिनों में विभिन्न विभागों अंतर्गत 11 सेवाओं के कुल 252 सिविल सेवा पदों पर नियुक्ति, पुरानी पेंशन के लिए एसओपी बनाना, नई खेल नीति और खिलाड़ियों को सम्मानित करना, कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में युवा खिलाड़ी लवली चौबे और रूपा रानी तिर्की को सम्मानित करना, 29 हजार से अधिक गांवों में करीब 35 लाख परिवारों को सखी मंडलों से जोड़ने का काम, राज्य को स्वच्छ और प्रदूषण मुक्त ऊर्जा का पावर हाउस बनाने के लिए झाऱखंड सौर ऊर्जा नीति 2022 लागू करने जैसा फैसले प्रमुख हैं।

निजी क्षेत्रों में स्थानीय को 75 फीसदी आरक्षण

उन्होंने कहा कि झारखंड के निजी क्षेत्र में स्थानीय उम्मीदवारों का नियोजन अधिनियम, 2021 गठित किया है। इस अधिनियम के तहत प्रत्येक नियोक्ता 40 हजार रुपये तक के मासिक वेतन वाले पदों के कुल रिक्ति के 75 प्रतिशत पद पर स्थानीय उम्मीदवारों को नियोजित करेगा। स्थानीय युवाओं के पलायन को रोकने के लिए यह निर्णय मील का पत्थर साबित होगा।

भाईचारे और सामाजिक समरसता की भावना मजबूत करें राज्यवासी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति बेहतर हो, प्रशासन जनता के प्रति जवाबदेह और संवेदनशील हो, इसके लिए हमारी सरकार प्रयासरत है। उन्होंने राज्यवासियों से राज्य में भाईचारे एवं सामाजिक समरसता की भावना को मजबूत करने में सहयोग करने की अपील की।

शिक्षा पर है सरकार का विशेष फोकस

राज्य सरकार ने वर्ष 2020 में अनुसूचित जनजाति के 10 छात्र-छात्राओं को विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए मरंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई थी। कमजोर एवं पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की शिक्षा में कोई व्यवधान ना हो इसके लिए राज्य सरकार द्वारा प्रीमैट्रिक पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। वित्त वर्ष 2021-22 में प्री मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना के तहत 24 लाख छात्र-छात्राओं को 282 करोड़ की राशि और पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत चार लाख छात्र-छात्राओं को 301 करोड़ की राशि का भुगतान किया गया है।

अगले छह माह में हाेंगी 37 हजार नियुक्तियां

मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त 2716 पदों पर नियुक्ति के लिए झारखंड लोक सेवा आयोग को अधियाचना भेजी गई है। वहीं विद्यालयों में शिक्षक एवं प्रयोगशाला सहायक आदि के 37 हजार पद रिक्त हैं। इन पदों पर नियुक्ति के लिए विशेष अभियान चलाकर अगले छह महीना में नियुक्ति प्रक्रिया को पूर्ण करने के लिए कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

उर्जा, कृषि और अन्य क्षेत्रों में हो रहा है काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने तथा स्वच्छ एवं प्रदूषण मुक्त ऊर्जा का पावर हाउस बनाने के लिए झारखंड सौर ऊर्जा नीति 2022 में लागू की गई है। इसमें 2027 तक 4000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। राज्य के गिरिडीह शहर को सोलर सिटी के रूप में विकसित किया जा रहा है। साथ ही देवघर, सिमडेगा गढ़वा और पलामू में 20-20 मेगावाट क्षमता के सोलर पार्क की स्थापना की जा रही है। वहीं राज्य सरकार के प्रयासों से आठ बड़ी सड़क परियोजनाओं पर सैद्धांतिक स्वीकृति प्राप्त हो गई है।

राज्य का खिलाड़ियों ने बढ़ाया राज्य और देश का मान

उन्होंने कहा कि कॉमनवेल्थ गेम्स में 2022 में राज्य की युवा खिलाड़ी लवली चौबे और रूपा रानी तिर्की ने लॉन बॉल प्रतिस्पर्धा में भारतीय टीम को गोल्ड मेडल दिलाकर देश और झारखंड को गौरवान्वित किया है। भारतीय महिला हॉकी टीम ने भी कांस्य पदक जीता है। झारखंड की बेटियां सलीमा टेटे, निक्की प्रधान और संगीता कुमारी विजेता टीम के साथी रहे हैं। इससे पहले भी इनके ओलंपिक में उत्कृष्ट प्रदर्शन से सबका दिल जीता है।

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर से बढेगा निर्यात में बढ़ावा

राज्य से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए रांची में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का निर्माण न्यास किया गया है। वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में अंतरराष्ट्रीय व्यापार विशेषकर निर्यात संवर्धन से संबंधित तमाम गतिविधियां एक ही छत के नीचे संचालित होंगी। यह झारखंड के आर्थिक गतिविधियों को मजबूत करने में अहम रोल निभाएगी। राष्ट्रीय परिवार सर्वेक्षण की रिपोर्ट के आधार पर राज्य में शिशु मृत्यु दर को पोषण तथा महिलाओं एवं बच्चों में व्याप्त एनीमिया में उल्लेखनीय रूप से कमी आई है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!