Global Statistics

All countries
529,841,706
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 1:49:20 pm IST 1:49 pm
All countries
486,156,477
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 1:49:20 pm IST 1:49 pm
All countries
6,306,402
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 1:49:20 pm IST 1:49 pm

Global Statistics

All countries
529,841,706
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 1:49:20 pm IST 1:49 pm
All countries
486,156,477
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 1:49:20 pm IST 1:49 pm
All countries
6,306,402
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 1:49:20 pm IST 1:49 pm
spot_imgspot_img

Deoghar डीसी की लापरवाही के कारण त्रिकुट रोपवे पर हुआ हादसा, अभी भी फंसे हैं 48 लोग: MP Nishikant

घटना ने जहां देवघर जिला प्रशासन की नींद उड़ा दी तो वहीं, इलाके के सांसद निशिकांत दुबे ने इस घटना के लिए जिले के अधिकारी को ही जिम्मेदार ठहराया।

Deoghar: रविवार की शाम देवघर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल त्रिकुट पर्वत पर हुए हादसे ने पुरे देश में हड़कंप मचा दिया। अचानक पहाड़ के रोपवे का तार टूट जाने से दो ट्रॉली नीचे गिर गयी जिससे चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए तो वहीं करीब 62 लोग रोपवे पर फंस गए। जिनमे से 10 से 12 लोगों को सुरक्षित बचाया गया जबकि 48 लोग पूरी रात फंसे ही रहे। जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।

इस घटना ने जहां देवघर जिला प्रशासन की नींद उड़ा दी तो वहीं, इलाके के सांसद निशिकांत दुबे ने इस घटना के लिए जिले के अधिकारी को ही जिम्मेदार ठहराया। घटना की जानकारी मिलते ही अपने गांव पर रामनवमी पर्व मना रहे सांसद निशिकांत दुबे सबकुछ छोड़कर देवघर त्रिकुट के लिए रवाना हुए। रात करीब 10 बजे यहां पहुंच उन्होंने न सिर्फ पूरी घटना की जानकारी ली बल्कि पैदल ही पहाड़ों पर चढ़ रोपवे पर फंसे लोगों का हालचाल जाना। इतना ही नहीं पूरी रात वो त्रिकूट पर ही रुके रहे।

देर रात मीडिया से बात करते हुए सांसद निशिकांत दुबे ने जिला प्रशासन के रवैये पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने मेन्टेनेन्स की कमी के कारण हुए इस हादसे के लिए सीधे तौर पर देवघर डीसी को दोषी बताया। निशिकांत दुबे ने कहा कि करीब चार बजे जिले में इतनी बड़ी घटना होती है और जिले के आलाधिकारी शाम छह बजे तक घटनास्थल तक पहुंचना मुनासिब भी नहीं समझते हैं।

होम मिनिस्टर द्वारा संज्ञान के बाद हरकत में आया प्रशासन: निशिकांत

निशिकांत दुबे ने कहा कि घटना के बाद जो 10-12 लोगों को निकाला गया उन्हें प्रशासन द्वारा नहीं बल्कि स्थानीय लोगों ने अपनी जान हथेली पर रख निकाला है। प्रशासन तब हरकत में आया है जब उनके द्वारा होम मिनिस्टर को इस हादसे की जानकारी दी गयी। जिसके बाद एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू के लिए भेजी गयी।

अभी भी फंसे हैं 48 लोग

उन्होंने बताया कि अभी भी 48 लोग फंसे हुए हैं। जिसमे बच्चे भी शामिल हैं लेकिन उनतक पानी-खाना पहुंचाने का इंतज़ाम प्रशासन ने नहीं कराया। ये काम भी स्थानीय ही कर रहे हैं।

एयरफोर्स भेज रही हेलीकाप्टर

निशिकांत दुबे ने फंसे हुए लोगों के रेस्क्यू को लेकर जानकारी दी कि पटना से एनडीआरएफ की टीम आ रही है। क्योंकि देवघर की टीम के पास वैसे उपकरण नहीं हैं। सीमा सुरक्षा बल की बटालियन दुमका के पास से आ रही। आईटीबीपी की टीम रांची से आ रही। साथ ही दो छोटे-छोटे हेलीकाप्टर की व्यवस्था एयरफोर्स ने की है ताकि फंसे हुए लोगों को एयरलिफ्ट किया जा सके। सुबह सात बजे तक हेलीकाप्टर मौके पर पहुँच जायेगा।

हादसे के लिए देवघर डीसी दोषी: निशिकांत

हादसे पर बिफरे सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि ये रोपवे राज्य सरकार का है। इसका मेंटेनेंस की जिम्मेवारी पर्यटन विभाग की है। जिसे देवघर के डीसी को देखना है। निशिकांत दुबे ने साफ कहा कि ये हादसा डीसी देवघर की लापरवाही की वजह से हुआ है। उन्होंने कहा कि जाँच में दोषी कौन है ये तो पता चलेगा ही लेकिन उनके अनुसार प्रथम दृष्टया जिला उपायुक्त ही सबसे बड़े दोषी हैं।

Also Read:

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!