Global Statistics

All countries
529,364,875
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
485,723,786
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
6,304,937
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am

Global Statistics

All countries
529,364,875
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
485,723,786
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
6,304,937
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
spot_imgspot_img

‘Joacon-2022’: Deoghar में जुटेंगे देश-विदेश के 300 हड्डी रोग विशेषज्ञ

झारखंड ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन (Jharkhand Orthopedic Association) की ओर से आगामी 8, 9 और 10 अप्रैल, 2022 को तीन दिवसीय 14वां वार्षिक सम्मेलन 'जोआकॉन-2022' ('Joacon-2022') का आयोजन किया जा रहा है।

Deoghar: झारखंड ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन (Jharkhand Orthopedic Association) की ओर से आगामी 8, 9 और 10 अप्रैल, 2022 को तीन दिवसीय 14वां वार्षिक सम्मेलन ‘जोआकॉन-2022’ (‘Joacon-2022’) का आयोजन किया जा रहा है। इसमें झारखंड और बिहार समेत देश-विदेश के 300 से अधिक हड्डी रोग विशेषज्ञ डेलिगेट्स (Orthopedic Delegates) शिरकत करेंगे। ये हड्डी रोग विशेषज्ञ मौजूदा समय में हड्डी रोगों के आधुनिक तकनीक से उपचार पर मंथन करेंगे। इस बात की जानकारी मुख्य संरक्षक डॉ डी.पी भूषण ने दी। ‘जोआकॉन-2022’ का आयोजन देवघर के डाबर ग्राम स्थित मेहर गार्डेन में होगा।

मुख्य संरक्षक डॉ डी.पी भूषण ने बताया कि 8 अप्रैल को जोआकॉन-2022 के उद्घाटन के मुख्य अतिथि एम्स देवघर के डायरेक्टर डॉ सौरभ वार्ष्णेय होंगे, जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में इंडियन ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ रमेश सेन और राष्ट्रीय सचिव डॉ नवीन ठक्कर होंगे।

उन्होंने बताया कि इस सम्मेलन में सर्जरी विद सॉफ्ट स्किल्स (surgery with soft skills) पर चर्चा होगी। देश-विदेश के विशेषज्ञ डॉ नयी वैज्ञानिक पद्धति को शेयर करेंगे।

वार्षिक सम्मेलन में 30 घंटे तक हड्डी रोग की विभिन्न वैज्ञानिक पद्धति पर चर्चा होगी। इसमें दो लाइव सर्जरी भी होगी। इस दौरान बताया जायेगा कि आधुनिक तरीके से कैसे हड्डी रोग का आसानी से इलाज किया जा सकता है।

इस सम्मेलन में जो भी मंथन होगा और विशेषज्ञ जो अपना अनुभव शेयर करेंगे, इससे ना सिर्फ डॉक्टरों को फायदा होगा, बल्कि मरीजों को भी आधुनिक पद्धति से हड्डी रोग के इलाज की सुविधा मिल पायेगी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!