spot_img

Tata Steel में आश्रितों की बहाली के लिए आयोजित परीक्षा में पकड़े गए ‘मुन्ना भाई’

Ranchi: टाटा स्टील (Tata Steel) में कर्मचारियों के आश्रितों (dependents of employees) की बहाली के लिए आयोजित परीक्षा में छह फर्जी परीक्षार्थी (fake examinees) पकड़े गए हैं। यह सभी लोग एक खास रैकेट से जुड़े हुए हैं। पुलिस ने रैकेट के संचालन से जुड़े एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया है।

जमशेदपुर के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी 7 लोगों को जेल भेजा जा रहा है।

बता दें कि टाटा स्टील ने पूर्व से कार्यरत कर्मचारियों के बदले उनके पुत्र-पुत्रियों और आश्रितों की नियुक्ति की योजना की घोषणा पिछले दिनों की थी। इस योजना के तहत कंपनी को लगभग साढ़े सात हजार आवेदन प्राप्त हुए थे। इस योजना के तहत रविवार को जमशेदपुर के 16 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा ली गई थी। इसी दौरान जमशेदपुर के साकची के परीक्षा केंद्र से दो और बिष्टुपुर के केंद्र से चार लोगों को पकड़ा गया।

पुलिस ने परीक्षा में फर्जी रूप से शामिल होने वाले परीक्षार्थी के सहयोग करने वाले एक आरोपित को हिरासत में लिया। जांच में इस बात का खुलासा हुआ कि आवेदक के स्थान पर दूसरे परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे थे। इस मामले में टाटा स्टील के सुरक्षा विभाग के प्रबंधक विनीत कुमार सिंह की शिकायत पर बिष्टुपुर में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस मामले की जांच डीएसपी अनिमेष कुमार गुप्ता कर रहे हैं।

फर्जी तरीके से परीक्षा देने के मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों में उत्तर प्रदेश के हुसैनपुर के रहने वाले मो. इंतखाब, तौफीक अहमद, हासिब अहमद, रूहुल अमीन, मो. फैसल, जमशेदपुर के मो. असदउल्लाह, बिहार के नालंदा जिला निवासी मोनु कुमार और अभिषेक कुमार शामिल हैं।(IANS)

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!