Global Statistics

All countries
232,608,491
Confirmed
Updated on Monday, 27 September 2021, 12:26:19 pm IST 12:26 pm
All countries
207,522,013
Recovered
Updated on Monday, 27 September 2021, 12:26:19 pm IST 12:26 pm
All countries
4,762,083
Deaths
Updated on Monday, 27 September 2021, 12:26:19 pm IST 12:26 pm

Global Statistics

All countries
232,608,491
Confirmed
Updated on Monday, 27 September 2021, 12:26:19 pm IST 12:26 pm
All countries
207,522,013
Recovered
Updated on Monday, 27 September 2021, 12:26:19 pm IST 12:26 pm
All countries
4,762,083
Deaths
Updated on Monday, 27 September 2021, 12:26:19 pm IST 12:26 pm
spot_imgspot_img

DC साहब! जब रैयत जमीन देने को हैं तैयार तो आप तकनीकी अड़ंगा क्यों लगा रहे: MP निशिकांत

देवघर: देवघर एयरपोर्ट (Deoghar Airport) का निर्माण कार्य अब अंतिम चरण में है, लेकिन इस एयरपोर्ट को तबतक चालू नहीं किया जा सकता है जबतक एप्रोच सड़क का निर्माण न करा लिया जाये। अब एक बार फिर एप्रोच सड़क निर्माण को लेकर पेंच फंसता नजर आ रहा है।

निशिकांत ने कहा था MP LAD Fund से करें एप्रोच सड़क निर्माण

दरअसल, एप्रोच सड़क निर्माण को लेकर सूबे की हेमंत सरकार के नकारात्मक रवैये से हैरान गोड्डा लोकसभा के सांसद डॉ. निशिकांत दुबे (MP Nishikant Dubey) ने अपने MP LAD Fund से इस सड़क निर्माण के लिए देवघर डीसी (Deoghar DC) को पत्र दिया था। निशिकांत दुबे ने कहा था कि वो एमपी लैड फंड से दो करोड़ 15 लाख रूपये के लागत से इस एप्रोच सड़क का निर्माण कार्य पूरा करने के लिए दे रहे हैं।

DC ने कहा- नहीं दे सकते MP LAD Fund से मुआवज़ा

अब देवघर के डीसी ने एमपी निशिकांत के इस पत्र का जवाब दिया है। पत्र में डीसी ने लिखा है कि सड़क निर्माण के लिए जमीन का अधिग्रहण अनिवार्य है। जबकि MP LAD Fund से इस सड़क में पड़ने वाली रैयती जमीन का मुआवजा नहीं दिया जा सकता है। डीसी ने लिखा है कि सांसद सदस्य स्थानीय क्षेत्र विकास योजना (MP LAD) दिशा-निर्देश जून 2016 के अनुबंध के क्रमांक-9 में भूमि अधिग्रहण तथा अधिगृहित भूमि का मुआवजा एमपीलैड्स के अंतर्गत प्रतिबंधित कार्यों की सूची के अन्तर्गत है।

एप्रोच सड़क निर्माण में कहीं तकनीकी अड़ंगा न लग जाए

डीसी के पत्र से जाहिर हो रहा कि एक बार फिर एप्रोच सड़क निर्माण में तकनीकी अड़ंगा लग सकता है, लेकिन सवाल ये भी है कि अगर MP LAD Fund से मुआवज़ा राशि नहीं दी जा सकती है तो सूबे की सरकार इस ओर पहल क्यों नहीं कर रही है? बहरहाल डीसी के इस पत्र का जवाब एमपी निशिकांत ने रैयतों से बात करने के बाद दिया है।

देशहित में रैयत अपनी जमीन देने को तैयार: निशिकांत

निशिकांत लिखते हैं कि मेरी रैयतों से बात हुई है उनको रोड बनाने में कोई दिक़्क़त नहीं है। इसके अलावा रैयतों को आपसे भुमि अधिग्रहण का पैसा भी नहीं चाहिए। देश, राज्य व देश हित में वे सहर्ष अपना ज़मीन देने को तैयार हैं। समस्या आपकी सोच में है जो राष्ट्रीय सुरक्षा के मसले पर भी राजनीति कर रहे हैं। आपको जानकारी है कि यह मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा है। आप भुमि अधिग्रहण की चिन्ता किये बिना, सांसद निधि निर्देशन के तहत कार्य प्रारंभ करिए, अन्यथा यह माना जाएगा कि आप देशहित व उसकी सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

बता दें कि यह एप्रोच सड़क देवघर-मधुपुर PWD रोड जो कि एयरपोर्ट एंट्री वॉल तक जाएगी। जिसकी लम्बाई 320 मीटर और कैरेज चौड़ाई 7.5 मीटर होगी।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!