spot_img

BIRTHDAY SPECIAL: बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे राजेश खन्ना

राजेश खन्ना अब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन आज भी उन्हें उनकी शानदार अभिनय प्रतिभा के लिए हर कोई याद करता है। राजेश खन्ना को फिल्म जगत में सभी प्यार से 'काका' कह कर सम्बोधित करते थे।

बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार कहे जाने वाले राजेश खन्ना का जन्म का जन्म 29 दिसंबर,1942 को अमृतसर में हुआ था । राजेश खन्ना अब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन आज भी उन्हें उनकी शानदार अभिनय प्रतिभा के लिए हर कोई याद करता है। राजेश खन्ना को फिल्म जगत में सभी प्यार से ‘काका’ कह कर सम्बोधित करते थे।

राजेश खन्ना ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1966 में आई फिल्म ‘आखिरी खत’ से की थी। इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में काम किया और बॉलीवुड को कई सुपरहिट फिल्में दी। राजेश खन्ना की कुछ प्रमुख फिल्मों में आराधना , इत्तेफाक , सच्चा झूठा , सफर , कटी पतंग , आनंद , दुश्मन , अमर प्रेम , नमक हराम , आप की कसम सौतन , आ अब लौट चले , क्या दिल ने कहा , रियासत आदि शामिल हैं ।

राजेश खन्ना ने साल 1973 में अभिनेत्री डिंपल कपड़ियां से शादी की थी। राजेश खन्ना 70 के दशक में नवरंगपुरा स्पोर्ट्स क्लब के प्रोग्राम में बतौर चीफ गेस्ट गए थे। यहीं पर उनकी मुलाकात डिंपल कपाड़िया से हुई और वे पहली नजर में ही उनके दीवाने हो गए थे। यहीं से राजेश और डिंपल की लव स्टोरी की शुरुआत हुई। शादी के बाद डिंपल ने अभिनय की दुनिया को अलविदा कह दिया। डिंपल और राजेश की दो बेटियां ट्विंकल खन्ना और रिंकी खन्ना हैं। डिंपल और राजेश का वैवाहिक जीवन लम्बे समय तक नहीं चल पाया और शादी के दस साल बाद साल 1982 में दोनों अलग हो गए।

इसके बाद डिंपल ने एक बार फिर से फिल्म जगत में वापसी की तो वहीं राजेश खन्ना भी अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने लगे। राजेश खन्ना का नाम बॉलीवुड की कुछ अन्य एक्ट्रेसेस के साथ भी जुड़ने लगा था। कहा जाता है कि राजेश खन्ना और डिंपल कपाड़िया अलग हो गए थे, लेकिन उन्होंने कभी तलाक नहीं लिया था और शादी के 27 साल बाद वह एक बार फिर से करीब आने लगे थे। राजेश खन्ना आखिरी बार फिल्म रियासत में नजर आये थे, जो उनके निधन के बाद रिलीज हुई थी।

18 जुलाई , 2012 को 70 साल की उम्र में राजेश खन्ना ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वह कैंसर से पीड़ित थे । यह कहना गलत नहीं होगा कि बड़े पर्दे पर अपने अभिनय से सबके चेहरे पर मुस्कान लाने वाले राजेश खन्ना असल जिंदगी में एकदम अकेले थे। साल 2013 में राजेश खन्ना के निधन के बाद उन्हें भारतीय सिनेमा में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए भारत सरकार की तरफ से पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। राजेश खन्ना भले ही इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन अपनी शानदार अभिनय की बदौलत वे अपने चाहनेवालों के दिलों में सदैव जीवित रहेंगे।

भारतीय सिनेमा में उनके दिए गए योगदान अतुलनीय है। हिंदी सिनेमा में राजेश खन्ना का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जा चुका है। उन्होंने हिंदी सिनेमा को बुलंदियों का आसमान बख्शा ।भारतीय सिनेमा उनके दिए गए योगदानों को कभी नहीं भूल पायेगा।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!