Global Statistics

All countries
232,611,641
Confirmed
Updated on Monday, 27 September 2021, 1:26:25 pm IST 1:26 pm
All countries
207,526,325
Recovered
Updated on Monday, 27 September 2021, 1:26:25 pm IST 1:26 pm
All countries
4,762,160
Deaths
Updated on Monday, 27 September 2021, 1:26:25 pm IST 1:26 pm

Global Statistics

All countries
232,611,641
Confirmed
Updated on Monday, 27 September 2021, 1:26:25 pm IST 1:26 pm
All countries
207,526,325
Recovered
Updated on Monday, 27 September 2021, 1:26:25 pm IST 1:26 pm
All countries
4,762,160
Deaths
Updated on Monday, 27 September 2021, 1:26:25 pm IST 1:26 pm
spot_imgspot_img

दृश्यम फिल्म देखकर पड़ोसी को फ़साने के लिये चलवाई अपने पर गोली, एक गिरफ्तार

दृश्यम फिल्म देखकर अमरपाल नामक एक व्यक्ति ने अपने पड़ोसी को फंसाने के लिए खुद पर गोली चलवा ली। वारदात में उसने अपने भाई, कजिन व उसके साले को शामिल किया, लेकिन पुलिस की जांच में इस पूरे नाटक से पर्दा उठ गया।

नई दिल्ली: उत्तरी जिले(North District) के मजनू का टीला इलाके में दृश्यम फिल्म देखकर अमरपाल नामक एक व्यक्ति ने अपने पड़ोसी को फंसाने के लिए खुद पर गोली चलवा ली। वारदात में उसने अपने भाई, कजिन व उसके साले को शामिल किया, लेकिन पुलिस की जांच में इस पूरे नाटक से पर्दा उठ गया। पुलिस ने आरोपित के कजिन को गिरफ्तार कर लिया। इसकी पहचान अनिल के रूप में हुई है। फिलहाल अमरपाल का भाई गुड्डू और अनिल का साला मनीष फरार है।

दरअसल अमरपाल पड़ोसी की मां की हत्या के आरोप में जेल में बंद था। 2019 में झगड़े के बाद अमरपाल व उसके परिजनों ने महिला की हत्या कर दी थी। इस मामले में अमरपाल की मां व कुछ अन्य लोग जेल में बंद थे। एक माह पूर्व ही जेल से बाहर आने के बाद उसने पड़ोसी को फंसाने की योजना बनाई थी।

डीसीपी अंटो अल्फोंस ने बताया कि 29 जून को सिविल लाइंस थाने में हत्या के प्रयास का मामला दर्ज हुआ था। शिकायतकर्ता अमरपाल ने बताया कि वह मजनू का टीला इलाके में रात को टहल रहा था। इसी दौरान पड़ोसी ओमबीर और उसके लड़कों ने उसे गोली मारकर हत्या का प्रयास किया। पहले दिन ही पुलिस को अमरपाल पर शक हुआ।

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि अमरपाल हत्या के मामले में मई में ही पैरोल पर जेल से बाहर आया है। अमरपाल, उसकी मां व तीन अन्य लोगों पर पड़ोसी ओमबीर की मां की तलवार से वारकर हत्या का आरोप है। इसी कड़ी में जांच करते हुए पुलिस ने टेक्नीकल सर्विलांस की मदद से अमरपाल के कजिन अनिल को पकड़ लिया।

उसने हकीकत का खुलासा कर दिया। उसने बताया कि अमरपाल गवाहों को तोड़ने और परिवार को जेल से निकालने के लिए ही जेल से पैरोल पर आया था। पहले उसने इस मामले के गवाहों को तोड़ने का प्रयास किया, लेकिन कामयाब नहीं हुआ। इसके बाद उसने दृश्यम फिल्म देखकर ओमवीर के परिवार को फंसाने की योजना बनाई।

इसमें उसने अपने भाई गुड्डू, कजिन अनिल व अनिल के साले मनीष को शामिल किया। कई दिनों तक इसकी योजना बनती रही। बाईपास पर अमरपाल ने अपने दोस्तों में झूठी अफवाह फैलाई की ओमवीर व उसके लड़के बदला लेने के लिए उसका पीछा करते हैं। झूठ फैलाने के बाद 29 जून को अनिल, गुड्डू और मनीष खैबर बाईपास के पास अंधेरे स्थान पर पहुंचे।

वहां अमरपाल के कहने पर छर्रे वाले कारतूस से उस पर गोली चलाई गई। वारदात के बाद घायल अमरपाल अपने दोस्तों के पास पहुंचा और उसने ओमवीर का नाम लिया। अमरपाल अभी भी अस्पताल में भर्ती है। पुलिस बाकी आरोपितों की तलाश कर रही है। वारदात में इस्तेमाल तमंचा भी बरामद कर लिया गया है।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!