Global Statistics

All countries
529,364,875
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
485,723,786
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
6,304,937
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am

Global Statistics

All countries
529,364,875
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
485,723,786
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
All countries
6,304,937
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 2:47:46 am IST 2:47 am
spot_imgspot_img

देश में नहीं होगी तेल की कमी, चुनाव से Petrol-Diesel के दाम का संबंध नहीं: हरदीप पुरी

अंतरराष्ट्रीय बाजार (International market) में कच्चे तेल (Crude oil) के दाम में जारी उछाल के बीच पेट्रोल-डीजल के दाम में इजाफे को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री (Union Petroleum Minister) ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया।

New Delhi: अंतरराष्ट्रीय बाजार (International market) में कच्चे तेल (Crude oil) के दाम में जारी उछाल के बीच पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) के दाम में इजाफे को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री (Union Petroleum Minister) ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया। पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के कारण हम भारत में तेल की कमी नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि आगे हम जो भी निर्णय लेंगे, वह अपने नागरिकों के हितों को ध्यान में रखकर लेंगे।

विधान सभा चुनाव के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर एक सवाल के जवाब में हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि यह कहना गलत होगा कि चुनाव की वजह से हमने तेल की कीमतें नहीं बढ़ाई है। दरअसल, आजकल कच्चे तेल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर ये चर्चा है कि जल्द ही अपनी टंकी भरवा लीजिए, क्योंकि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव अब खत्म हो गए हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कंपनियों को तय करना है, क्योंकि उन्हें भी बाजार में बने रहना है।

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि टंकी अभी भरवा लो या बाद में भरवा लो, कभी ना कभी तो चुनाव आएगा। उन्होंने कहा कि तेल की कीमतें अंतरराष्ट्रीय बाजार के अनुसार तय होती है। उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत एक दिन पहले 140 डॉलर प्रति बैरल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुकी थी। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों का असर भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी के रूप में देखने को मिल सकता है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!