Global Statistics

All countries
529,841,373
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 12:49:05 pm IST 12:49 pm
All countries
486,156,343
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 12:49:05 pm IST 12:49 pm
All countries
6,306,398
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 12:49:05 pm IST 12:49 pm

Global Statistics

All countries
529,841,373
Confirmed
Updated on Thursday, 26 May 2022, 12:49:05 pm IST 12:49 pm
All countries
486,156,343
Recovered
Updated on Thursday, 26 May 2022, 12:49:05 pm IST 12:49 pm
All countries
6,306,398
Deaths
Updated on Thursday, 26 May 2022, 12:49:05 pm IST 12:49 pm
spot_imgspot_img

सीमा विवाद के स्थायी समाधान की उम्मीद, गृहमंत्री से मिलेंगे असम, मेघालय के मुख्यमंत्री

असम और मेघालय की सीमा समस्या(Boarder Dispute Between Assam-Meghalay) का स्थायी समाधान (Permanent Solution) अब होता दिख रहा है।

Guwahati: असम और मेघालय की सीमा समस्या(Boarder Dispute Between Assam-Meghalay) का स्थायी समाधान (Permanent Settlement) अब होता दिख रहा है। समझौते के प्रारूप को अंतिम रूप देने के लिए असम के मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत बिस्व सरमा तथा मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने जाएंगे।

बुधवार को डिमा हसाउ जिला मुख्यालय शहर हाफलांग के आवर्त भवन में आयोजित असम कैबिनेट की बैठक में इस मुद्दे को लेकर तैयार किए गए प्रारूप को अंतिम रूप दे दिया गया।

उल्लेखनीय है कि इस मुद्दे को लेकर दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों तथा आधिकारिक स्तर पर कई दौर की बातचीत के बाद समझौते के प्रारूप को अंतिम रूप दे दिया गया था। सीमा समस्या के स्थायी समाधान को लेकर सरकार द्वारा पूर्व में गठित तीनों ही कमेटियों द्वारा अपने-अपने रिपोर्ट को जमा कराया जा चुका है। इस समाधान को लेकर पूरा खाका तैयार हो चुका है।

मंगलवार को मुख्यमंत्री डॉ. सरमा ने सीमा समस्या के समाधान को लेकर तैयार किए गए ब्लूप्रिंट पर चर्चा करने के लिए राज्य के विभिन्न राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों, छात्र संगठनों तथा अन्य संबंधित स्वायत्तशासी परिषदों के प्रतिनिधियों के साथ इस मुद्दे पर विस्तार पूर्वक विचार विमर्श किया था। आखिरकार इसे मंगलवार को अंतिम रूप देकर बुधवार को कैबिनेट की बैठक में लाया गया।

आज कैबिनेट में इस पर चर्चा के बाद मोहर लगा दी गई। गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री इस तमाम मसले पर अंतिम निर्णय करेंगे, ऐसी आशा की जा रही है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!