spot_img
spot_img

राजनीति से सन्यास ले लें नीतीश कुमार, खत्म हो गई है विश्वसनीयता : गिरिराज सिंह

केन्द्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है नीतीश कुमार बिहार में सरकार चलाने में पूरी तरह से विफल हैं, उन्हें राजनीति से संन्यास ले लेनी चाहिए।

निधि राजदान ने NDTV छोड़ा

Begusarai(Bihar): केन्द्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है नीतीश कुमार बिहार में सरकार चलाने में पूरी तरह से विफल हैं, उन्हें राजनीति से संन्यास ले लेनी चाहिए।

रविवार को बेगूसराय में पत्रकारों से बात करते हुए केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि नीतीश कुमार कहते हैं, मुझे काम पर विश्वास है, मेरा काम बोलता है। लेकिन नीतीश कुमार पर से लोगों का विश्वास खत्म हो गया है, उनकी विश्वसनीयता खत्म हो गई है।

कल तक जो लोग उन्हें मुख्यमंत्री बनाए थे और प्रधानमंत्री बनाने की बात रहे थे। आज खुलकर विरोध कर रहे हैं, नालंदा और कुढ़नी में ताजा विरोध हुआ है। लोग जगह-जगह काला झंडा दिखा रहे हैं, प्ले कार्ड दिखाया जा रहा है। सहयोगी कह रहे हैं कि शराब नीति पर पुनर्विचार करें, करना भी चाहिए।

नीतीश कुमार कहते हैं कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है, लेकिन आज कोई दिन ऐसा नहीं है जब जहरीली शराब से लोगों की मौत नहीं हो रही है। वैशाली और गोपालगंज की तरह हर जगह लोग शराब से मर रहे हैं तो फिर शराबबंदी सफल कैसे हैं। आम लोग कह रहे हैं कि नीतीश कुमार शराब पर अंकुश लगाने में नाकाम हो गए हैं।

गिरिराज सिंह ने कहा कि शराब तो बिहार में भगवान हो गया है, जैसे भगवान दिखते नहीं लेकिन हर जगह विराजमान हैं। उसी तरह शराब दिखता नहीं है, लेकिन हर जगह बिक रहा है, लोग शराब पीकर मर रहे हैं। गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार अगर काम कर रहे होते तो बिहार की यह दुर्दशा नहीं होती। सिर्फ शराब नीति ही बदतर नहीं हो गई है, बल्कि लोग मर रहे हैं।

विधि व्यवस्था पूरी तरह से खत्म हो गया है, जहां-तहां लोग मारे जा रहे हैं, आपराधिक घटनाएं बेलगाम हो गई है। एक तरफ नीतीश कुमार कहते हैं कि मेरा काम बोलता है, दूसरी तरफ गिरती विधि व्यवस्था इसका पोल खोल रही है। नीतीश कुमार से बिहार नहीं चल रहा है, उनकी विश्वसनीयता खत्म हो गई है।

ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राजनीति से संयास ले लेना चाहिए, कुढ़नी उप चुनाव में उन्हें पता चल जाएगा कि बिहार में काम कितना बोल रहा है और लोग उन पर कितना विश्वास करते हैं।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!