spot_img

बिहार में संदिग्ध हालात में 19 की मौत, कई इलाजरत, प्रशासन कुछ भी बोलने को तैयार नहीं

बिहार में बीते 48 घंटे के दौरान बांका, भागलपुर और मधेपुरा में संदिग्ध हालात में 19 लोगों की मौत हो गई है।

Patna: बिहार में बीते 48 घंटे के दौरान बांका, भागलपुर और मधेपुरा में संदिग्ध हालात में 19 लोगों की मौत हो गई है। सबसे ज्यादा झारखंड (Jharkhand) की सीमा से सटे बांका जिले के अलग-अलग गांवों में अबतक आठ लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है।

भागलपुर में सात और मधेपुरा में चार की मौत की पुष्टि हुई है। इस मामले में प्रशासन कुछ भी बोलने से कतरा रहा है। हालांकि, मृतकों के परिजनों ने शराब सेवन की बात स्वीकार की है।

बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र में रविवार को अलग-अलग गांवों में संदिग्ध अवस्था में आठ लोगों की मौत हो गई। सभी लोगों में एक जैसे लक्षण दिखाई दिए। सभी पेट दर्द, उल्टी होना एवं आंखों की रोशनी चले जाने की शिकायत कर रहे थे। कुछ लोगों को रेफरल अस्पताल लाया गया, जबकि कुछ को भागलपुर रेफर किया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

मृतकों में अमरपुर बाजार के रघुनंदन पोद्दार (60), कामदेवपुर के राजा तिवारी (19), ओड़ैय गांव के संजय शर्मा (26), डुमरामा के सुमित आशीष, पवई के राजू मंडल (50), डुमरिया के राहुल कुमार (22) एवं आशीष कुमार (25) के अलावा गोड्डा जिला (झारखंड) के विजय साह बल्लिकित्ता गांव जो समधी के घर आए थे, शामिल हैं। इनमें से कुछ की मौत अमरपुर रेफरल अस्पताल में तो कुछ की मौत भागलपुर मायागंज में हुई।

क्षेत्र के छह लोगों का इलाज भागलपुर के विभिन्न निजी अस्पतालों में चल रहा है। इसमें डुमरिया के तीन युवक एवं विशंभरचक तथा बल्लिकित्ता के लोग शामिल हैं। बेशक पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं लेकिन एक मरीज के परिजन का कहना है कि उनके ससुर ने 18 मार्च को शराब पी थी। दो दिनों से खाना नहीं खा रहे हैं और उल्टी कर रहे हैं। इसलिए अस्पताल में भर्ती कराया है।

भागलपुर जिले में अबतक सात लोगों की मौत हो चुकी है। विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के साहेबगंज मोहल्ले में संदिग्ध परिस्थिति में पांच लोगों की मौत होने के बाद रविवार को स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और लोग सड़क पर उतर आए। इनके अलावा नारायणपुर प्रखंड में भी दो लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी है। एक की मौत शनिवार की शाम और दूसरे की मौत रविवार की सुबह हुई है। चार लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

चार मृतकों की पहचान हुई है। इनमें विनोद राय, संदीप यादव, नीलेश कुमार और मिथुन कुमार हैं। सभी एक ही गांव के हैं। इनके अलावा अभिषेक कुमार की जहरीली शराब पीने से आंख की रोशनी चली गई है। इनका इलाज मायागंज अस्पताल में चल रहा है। अभिषेक कुमार का साहेबगंज मोहल्ले में ससुराल है।

मधेपुरा जिले में भी चार की मौतें हुई हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक बीते दो दिनों के दौरान होली पर्व के दौरान जहरीली शराब पीने से 22 लोग बीमार हुए थे। इन्हें बारी-बारी मुरलीगंज पीएचसी और निजी अस्पतालों में ले जाया गया, जहां शनिवार रात चार की मौत हो गई। तीन मृतकों की पहचान हुई है।

इनमें मुरलीगंज प्रखंड मुख्यालय से सटे दिग्घी पंचायत के वार्ड दो निवासी लोजपा प्रखंड अध्यक्ष (चिराग गुट) नीरज निशांत सिंह उर्फ बौआ (40), नागेंद्र सिंह के पुत्र परौकी सिंह (32) और मुरलीगंज नगर पंचायत के वार्ड-9 निवासी संजीव रमानी (25) की मौत हुई है। इसमें परौकी सिंह की मौत शुक्रवार को हुई थी। एक मृतक की पहचान नहीं हो पाई है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!