spot_img

जब बॉर्डर पार कर नाना से मिलने आया नाबालिग बांग्लादेशी लड़का….

गुरुवार को एक नाबालिग बांग्लादेशी लड़का बॉर्डर पार कर हिन्दुस्तान आ गया। सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के तहत आने वाले पिरोजपुर चौकी के पास से बॉर्डर पार कर रहे इस नाबालिग बांग्लादेशी लड़के को गिरफ्तार कर लिया।

गुरुवार को एक नाबालिग बांग्लादेशी लड़का बॉर्डर पार कर हिन्दुस्तान आ गया। सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के तहत आने वाले पिरोजपुर चौकी के पास से बॉर्डर पार कर रहे इस नाबालिग बांग्लादेशी लड़के को गिरफ्तार कर लिया। हालाँकि उसे मानवीयता के आधार पर बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) को सौंप दिया गया। बीएसएफ ने बताया कि यह लड़का अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर बांग्लादेश जाने की कोशिश कर रहा था।

BSF के मुताबिक, 22 जुलाई को सुबह 11 बजे बीएसएफ खुफिया शाखा की सूचना के आधार पर नाबालिग बांग्लादेशी लड़के को पिरोजपुर चौकी के पास गिरफ्तार किया गया। लड़के ने पूछताछ के दौरान अपना नाम मोहम्मद नयन अली (उम्र-12 वर्ष) बताया। नयन बांग्लादेश के चपाई नवाबगंज जिले के जोहरपुर गांव का रहने वाला है। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह सुबह 8 बजे अपने नाना ईरामूल शेख से मिलने आया था।

ईरामूल शेख मुर्शिदाबाद जिले के बाजितपुर गांव का रहने वाला है। जब नाबालिग अपने नाना से मिलकर वापस जा रहा था, तो बॉर्डर के पास बीएसएफ ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ और जरूरी कार्रवाई के बाद लड़के को सद्भावना के आधार पर बीजीबी को सौंप दिया गया।

BSF के 78 बटालियन के कार्यवाहक कमांडिंग ऑफिसर, विश्वबंधु ने बताया कि पूछताछ करने पर यह सामने आया कि नाबालिग लड़का किसी तरह के गलत इरादे से बांग्लादेश से भारत नहीं आया था। वो अपने नाना से मिलने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार किया था। उन्होंने कहा कि वैसे अंतरराष्ट्रीय सीमा को लांघना एक अपराध की श्रेणी में आता है, लेकिन लड़के के भविष्य और सीमावर्ती लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए उसे मानवीयता के आधार पर बीजीबी को सौंप दिया गया।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!