spot_img

ट्रेन-मेट्रो नहीं चली लेकिन बसें चलेंगी तो यात्री कहां से आएंगे : दिलीप घोष

राज्य में कोरोना के चलते राज्य सरकार ने कुछ छूट के साथ लॉकडाउन 15 जुलाई तक बढ़ा दिया है। ऐसे में राज्य सरकार के ट्रेन और मेट्रो न चलाने लेकिन बस चलाने के निर्णय पर प्रदेश भाजपा ने कटाक्ष किया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि ट्रेन-मेट्रो नहीं चले लेकिन बस चलेगी तो यात्री कहां से आएंगे?

कोलकाता: राज्य में कोरोना के चलते राज्य सरकार ने कुछ छूट के साथ लॉकडाउन 15 जुलाई तक बढ़ा दिया है। ऐसे में राज्य सरकार के ट्रेन और मेट्रो न चलाने लेकिन बस चलाने के निर्णय पर प्रदेश भाजपा ने कटाक्ष किया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि ट्रेन-मेट्रो नहीं चले लेकिन बस चलेगी तो यात्री कहां से आएंगे?

दरअसल, सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों को चलाने और सीट के बराबर यात्रियों को लेकर बस, ऑटो और टोटो चलाने का ऐलान किया था। लेकिन सरकार ने ट्रेन व मेट्रो रेलवे को फिलहान नहीं चलाने पर कटाक्ष करते हुए दिलीप घोष ने कहा कि ट्रेन-मेट्रो नहीं चले लेकिन बस चलेगी तो यात्री कहां से आएंगे? दूसरी ओर मुख्यमंत्री उपचुनाव भी कराना चाह रही हैं।

दिलीप घोष ने कहा कि उनका (मुख्यमंत्री) कहना है कि सब कुछ सामान्य हो गया है। फिर भी वह ट्रेन-मेट्रो नहीं चला रही हैं। उनका कोई उद्देश्य समझ नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सही निर्णय लेने की जरूरत है, जो राज्य सरकार नहीं ले पा रही है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!