spot_img
spot_img

बहुसंख्यकों का मानना है कि रुपये के मूल्य में गिरावट से उनके जीवन पर प्रतिकूल असर पड़ेगा: IANS-CVoter National Mood Tracker

New Delhi: भारतीय रुपया रिकॉर्ड (Indian Rupee Record) निचले स्तर पर चला गया है और डॉलर (Dollar) के मुकाबले 80 के आंकड़े को पार कर गया है। इसका मतलब है कि एक डॉलर खरीदने के लिए 80 रुपये का भुगतान करना होगा। विशेषज्ञों के अनुसार, भारतीय मुद्रा के मूल्य में गिरावट के असंख्य कारण हैं जिनमें से मुख्य रूप से मुद्रास्फीति, कोविड प्रेरित लॉकडाउन और रूस-यूक्रेन युद्ध शामिल है। भारतीय रुपये के मूल्य में गिरावट विभिन्न क्षेत्रों को कई तरह से प्रभावित करती है।

मुख्य रूप से, यह आयात क्षेत्र को प्रभावित करता है क्योंकि आयातकों को समान मात्रा/उत्पाद के लिए अधिक भुगतान करना होगा। उदाहरण के लिए तेल और गैस महंगा हो जाएगा। भारत अपने तेल और गैस की खपत के लिए मुख्य रूप से आयात पर निर्भर है।

सीवोटर-इंडिया ट्रैकर (cvoter-india tracker) ने भारतीय रुपये के मूल्य में गिरावट के प्रभाव के बारे में लोगों के विचारों को समझने के लिए आईएएनएस के लिए एक राष्ट्रव्यापी सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण के दौरान, अधिकांश उत्तरदाताओं ने कहा कि रुपये के मूल्य में गिरावट उनके परिवारों पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगी। सर्वेक्षण के आंकड़ों के मुताबिक, जहां 79 फीसदी भारतीयों का मानना है कि रुपये के मूल्य में गिरावट का उनके जीवन पर बुरा असर पड़ेगा, वहीं 21 फीसदी इससे सहमत नहीं दिखे।

दिलचस्प बात यह है कि सर्वेक्षण के आंकड़ों के अनुसार, एनडीए और विपक्ष दोनों समर्थकों के बड़े वर्ग (बहुमत) को लगता है कि रुपये के मूल्य में गिरावट का खामियाजा उनके परिवारों को भुगतना पड़ेगा। सर्वेक्षण के दौरान, एनडीए के 83 प्रतिशत उत्तरदाताओं और 73 प्रतिशत विपक्षी समर्थकों ने कहा कि रुपये के मूल्य में गिरावट के कारण उनके परिवारों को आर्थिक रूप से कठिन समय का सामना करना पड़ेगा।

इसी तरह, सर्वेक्षण से पता चला कि शहरी और ग्रामीण दोनों मतदाताओं में से अधिकांश का मानना है कि रुपये के मूल्य में गिरावट के कारण उनकी आर्थिक स्थिति बुरी तरह प्रभावित होगी। सर्वेक्षण के आंकड़ों के मुताबिक, 85 फीसदी शहरी मतदाताओं और 71 फीसदी ग्रामीण मतदाताओं का मानना है कि रुपये के मूल्य में गिरावट उनके परिवार के बजट को बिगाड़ देगी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!