Global Statistics

All countries
261,265,655
Confirmed
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
234,249,183
Recovered
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
5,211,238
Deaths
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am

Global Statistics

All countries
261,265,655
Confirmed
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
234,249,183
Recovered
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
All countries
5,211,238
Deaths
Updated on Sunday, 28 November 2021, 2:20:05 am IST 2:20 am
spot_imgspot_img

नीरज चोपड़ा ने अपना ओलंपिक Gold Medal मिल्खा सिंह और पीटी उषा को किया समर्पित

ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता जेवलीन थ्रोवर नीरज चोपड़ा ने रविवार को कहा कि वह टोक्यो ओलंपिक का अपना पदक ट्रैक और फील्ड दिग्गज मिल्खा सिंह और पीटी उषा को समर्पित करते हैं।

नई दिल्ली: ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता जेवलीन थ्रोवर नीरज चोपड़ा ने रविवार को कहा कि वह टोक्यो ओलंपिक का अपना पदक ट्रैक और फील्ड दिग्गज मिल्खा सिंह और पीटी उषा को समर्पित करते हैं।

मिल्खा सिंह, जिनका इस साल की शुरुआत में निधन हो गया था, का सपना हमेशा एक एथलीट को ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतते देखने का था। इससे पहले, पीटी उषा 1984 के ओलंपिक में पदक जीतने के करीब पहुंच गई थीं, लेकिन वह अंतिम समय में चूक गईं।

नीरज ने कहा,“मिल्खा सिंह का यह सपना था कि एक भारतीय एथलीट ओलंपिक में एथलेटिक्स में पदक जीते, वह हमेशा से किसी को स्वर्ण पदक दिलाना चाहते थे, वह अब पूरा हो गया है लेकिन वह यहां हमारे साथ नहीं हैं। अगर वह यहां होते तो उन्हें गर्व होता। मैं यह पदक उन्हें और पीटी उषा को समर्पित करूंगा। पीटी उषा कुछ सेकेंड से पदक से चूक गई थी, मुझे लगता है कि उसका सपना भी पूरा हो गया है।”

नीरज चोपड़ा ने शनिवार को ओलंपिक में 87.58 मीटर की दूरी तक भाला फेंककर स्वर्ण हासिल किया।

उन्होंने कहा,“मैं ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहता था लेकिन जब तक मैं स्वर्ण पदक के बारे में निश्चित नहीं था तब तक मुझे आराम नहीं था। अन्य प्रतिभागी बहुत अच्छे थे और वे किसी भी फेंक के साथ बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे। मानसिक रूप से तैयार होना महत्वपूर्ण है, मैं स्वर्ण पदक के बारे में निश्चित था। जैसा कि मैंने उनका आखिरी प्रयास देखा, मुझे पता था कि मुझे सोना मिल रहा है और मैंने जश्न मनाया।”

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!