Global Statistics

All countries
264,564,819
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
236,825,800
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
5,252,525
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm

Global Statistics

All countries
264,564,819
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
236,825,800
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
All countries
5,252,525
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 3:09:25 pm IST 3:09 pm
spot_imgspot_img

नयी तकनीकों के प्रयोग से चुनाव की हर गतिविधियों पर नजर रखने की दुरूस्त व्यवस्था


विधानसभा चुनाव, 2019 के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होते ही जिला प्रशासन चुनाव की तैयारियों में लग गया है। भारत निर्वाचन आयोग ने स्वतंत्र व निष्पक्ष तरीके से चुनाव करने के लिए कई नये तकनीकों का प्रयोग किया जा रहा है। चुनाव के दौरान प्रत्याशियों की प्रत्येक गतिविधियों पर पैनी नजर रखने के  लिए सी-विजिल एप्प का प्रयोग किया जा रहा है। सी-विजिल एप्प के माध्यम से कोई भी नागरिक आचार संहिता के उल्लंघन की षिकायत एप्प के जरीये दर्ज कर सकता है। यह सूचना सीधा चुनाव आयोग व रिटर्निंग अधिकारी के पास जायेगी। शिकायत प्राप्त होने के बाद निर्धारित समय अवधि में टीम द्वारा जाचं किया जायेगा। शिकायत सही पाये जाने पर कार्रवाई भी सुनिष्चित की जायेगी। साथ हीं कार्रवाई की रिपोर्ट शिकायत कर्ता को एसएमएस के माध्यम से प्राप्त होगी। 

सी-विजिल एप्प- सुरक्षित एवं निष्पक्ष चुनाव कराने हेतु चुनाव आयोग द्वारा सी-विजिल एप्प का प्रयोग किया जा रहा है। सी-विजिल एप्प के जरीये कोई भी व्यक्ति आचार संहिता उल्लंघन के लिए शिकायत कर सकता है। इसके लिए एप्प पर सीधा लाइव वीडियों अपलोड करना होगा। यह शिकायत सीधे रिटर्निंग अधिकारी तथा भारत निर्वाचन चुनाव आयोग के पास पहुचेगी, शिकायत प्राप्त होने के बाद निर्धारित समय अवधि में टीम द्वारा जांच किया जायेगा। उम्मीद्वार सहित राजनीतिक पार्टियों अथवा कोई व्यक्ति विशेष आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करते पाये  जाते है, तो आप उससे जुड़ी तस्वीरों  अथवा दो मिनट का वीडियों तक इस एप्प के माध्यम से शेयर  कर सकते है। आपकी शिकायत पर तत्काल एक्षन लेते हुए 100 मिनट में कार्रवाई की जायेगी। इस एप्प पर सिर्फ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़े मामलों को अपलोड किया जा सकता है। यह एप्प मतदान के एक दिन बाद तक सक्रिय रहेगा। सी-विजिल एप्प के लिए कैमरा, इंटरनेट कनेक्शन व जीपीएस वाला एन्ड्रायड स्मार्ट फोन जरूरी है, तभी शिकायत कर्ता अपनी शिकायत को इस एप्प पर अपलोड कर सकता है।  

सुगम एप्प- चुनाव आयोग द्वारा लांच किये गये सुगम एप्प के माध्यम से वाहन प्रबंधन को दुरूस्त किया जा सकेगा। इसके माध्यम से उम्मीद्वारों के द्वारा अधिग्रहण किये गये वाहनों की जानकारी आयोग के पदाधिकारियों के पास रहेगी। परिवहन विभाग की वेबसाइट से वाहन नंबर, मालिक का नाम, पता लेकर नोटिस के साथ वाहनों का अधिग्रहण किया जायेगा। चुनाव कार्य में उपयोग होने वाले वाहनों को अधिग्रहण ऑनलाइन ही किया जा सकेगा। वाहनों में कितना पेट्रोल या डीजल डाला गया है। यह इस साॅफ्टवेयर पर अंकित किया रहेगा।

सुविधा एप्प- विधानसभा आम चुनाव, 2019 में उम्मीद्वार व राजनीति दल के कार्यकर्ता रैली, सभा रोड, शो, नुक्कड़ नाटक, वाहन, जुलूस आदि की अनुमति लेने के लिए सुविधा एप्प पर आवेदन कर सकते है। इसमें जहां उम्मीद्वार व पार्टी कार्यकताओं को समय की बचत रहेगी, वहीं दौड़ भाग से भी निजात मिलेगी। एप्प के आलावा भी मैन्यूअल तरीके से जिला निर्वाचन कार्यालय अथवा कोषांग में कार्यक्रम करने के लिए अनुमति के लिए आवेदन कर सकते है। आवेदन में तिथि व समय का उल्लेख स्पष्ट रूप से करना होगा। यह सुविधा पूर्व की तरह पहले आओ, पहले पाओ के हिसाब से दी जायेगी।

समाधान एप्प- चुुनाव आयोग द्वारा लांच किये गये समाधान एप्प से राजनीतिक दलों के द्वारा की गयी शिकायत की माॅनिटरिंग की जायेगी। उम्मीद्वार अथवा विभिन्न राजनीतिक पार्टियों चीफ एलेक्शन कमीश्नर से लेकर जिला प्रशासन कमीश्नर से लेकर जिला प्रशासन के यहां शिकायत कर सकते है। राजनीतिक दलों और मतदाताओं की सभी समस्याएं अब ऑनलाइन ही निबटारा किया जायेगा। ऑनलाइन आवेदन करने के बाद रिटर्निंग ऑफिसर पुलिस विभाग, जिला निर्वाचन पदाधिकारी उसका समाधान करेंगे। समस्या समाधान की जानकारी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते है। यहीं नहीं चुनाव आयोग भी पांच दिनों के अंदर जवाब देना होगा। यह सूचना सीधा चुनाव आयोग के पास जायेगी। 

विभिन्न प्रकार के एप्प के जरिये जहां आम नागरिक आम चुनाव में होने वाले धांधलियों पर अंकुश लगाने में आयोग को सहयोग कर पायेंगे, वहीं नागरिकों को शिकायत के लिए टीम पीठासीन पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारियों व कार्यालय में दौड़ नहीं लगाना पडेगा।     


lg

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!